Home अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष में लंबाई बढ़ने से ‘फंसा’ जापानी एस्ट्रोनॉट, अब सता रहा डर

अंतरिक्ष में लंबाई बढ़ने से ‘फंसा’ जापानी एस्ट्रोनॉट, अब सता रहा डर

Rate this post

लंदन

अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (ISS) में रह रहे एक जापानी ऐस्ट्रोनॉट की लंबाई पिछले 3 हफ्ते में 9 सेंटीमीटर (3.5 इंच) बढ़ गई है। लेफ्टिनेंट नोरीसिंगे कदाई ने अब चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि इस फालतू 9 सेंटीमीटर की वजह से वह धरती पर वापसी के समय सोयूज यान की छोटी सी जगह में शायद फिट न हो पाएं।

अपने सोशल मीडिया पोस्ट में कदाई ने लिखा, ‘ सभी को सुप्रभात। मैं आज एक बहुत बड़ी घोषणा करने जा रहा हूं। हमने अंतरिक्ष में आने के बाद अपने शरीर की लंबाई नापी और मैं वाकई 9 सेंटीमीटर तक बढ़ गया हूं। मैं सिर्फ 3 हफ्ते में इतना लंबा हो गया हूं। ऐसा हाइ स्कूल के बाद कभी नहीं हुआ। मैं थोड़ा डरा हुआ हूं कि क्या मैं वापसी के समय सोयूज यान में फिट हो पाऊंगा।’

बता दें कि सोयूज यान काफी छोटा होता है और उसमें यात्रा कर रहे सभी को बहुत छोटी सी जगह में ही फिट होना पड़ता है। अंतरिक्ष में ऐस्ट्रोनॉट्स की लंबाई औसतन 2 से 5 सेंटीमीटर तक बढ़ जाता ही। यह काफी दुर्लभ है कि कोई अंतरिक्षयात्री 9 सेंटीमीटर बढ़ गया हो।

अंतरिक्ष में गुरुत्वाकर्षण लगभग शून्य होता है इसलिए वहां रहने पर अंतरिक्ष यात्रियों की लंबाई बढ़ जाती है। हालांकि, धरती पर आने के बाद वे दोबारा अपने वास्तविक आकार में आ जाते हैं। किसी जापानी अंतरिक्षयात्री का यह पहला स्पेस मिशन है। कदाई पहले जापाम के मैरिटाइम सेल्फ डिफेंस फोर्स में मेडिकल ऑफिसर के तौर पर कार्यरत थे।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....