Home कारपोरेट अंशधारकों के लिए बड़ा फैसला ले सकता है EPFO

अंशधारकों के लिए बड़ा फैसला ले सकता है EPFO

0 16 views
Rate this post

ई दिल्ली

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के 5 करोड़ से अधिक ग्राहकों को जल्द ही अपने प्रॉविडेंट फंड में से एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) के जरिए शेयरों में निवेश बढ़ाने या घटाने का विकल्प मिल सकता है। ईपीएफओ के केंद्रीय न्यासी बोर्ड सीबीटी की शुक्रवार को हुई बैठक में इस बारे में संभावना तलाशने का फैसला किया गया।फिलहाल ईपीएफओ के अंशधारकों के पास ऐसा कोई विकल्प नहीं है। यह निकाय अपनी निवेश योग्य जमाओं का 15 प्रतिशत हिस्सा ईटीएफ में निवेश करता है।

सीबीटी ने पिछले साल सीबीटी ने मेंबर्स के योगदान को दो अकाउंट (कैश और ईटीएफ) में बांटने का फैसला किया था। कैश अकाउंट में मेंबर्स के पीएफ की 85 फीसदी रकम होती है और वहीं ईटीएफ अकाउंट में 15 फीसदी रकम होगी जो शेयर बाजार में निवेश की जाती है। यह रकम मेंबर्स अकाउंट में यूनिट के तौर पर दिखती है। पीएफ विड्रॉल के समय नेट असेट वैल्यू (एनएवी) के आधार पर मेंबर्स को पेमेंट मिल जाएगा।

क्या है ईटीएफ
एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) म्यूचुअल फंड कंपनियों का प्रॉडक्ट है, जिसमें सिर्फ स्टॉक एक्सचेंजों के जरिए निवेश किया जा सकता है। ईटीएफ के अंडरलाइंग एसेट शेयर, कमोडिटी, बॉन्ड और करेंसी हो सकते हैं।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....