Home राज्य अमित शाह से अकेले मिल रहे हैं उद्धव ठाकरे, CM फडणवीस भी...

अमित शाह से अकेले मिल रहे हैं उद्धव ठाकरे, CM फडणवीस भी नहीं मौजूद

0 28 views
Rate this post

मुंबई

आगामी लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह अपनी पार्टी के ‘संपर्क फॉर समर्थन’ अभियान पर निकले हुए हैं. इसके तहत वो देश की बड़ी हस्तियों से मिल रहे हैं. इसी कड़ी में आज बीजेपी अध्यक्ष शाह एनडीए में सहयोगी शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से भी मुलाकात करने मुंबई स्थित मातोश्री पहुंचे हैं.बताया जा रहा है कि उद्धव ठाकरे ने अमित शाह से अकेले में मिलने की इच्छा जताई थी. लिहाजा दोनों अकेले में मुलाकात कर रहे हैं. उनके साथ महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी मौजूद नहीं हैं.

अमित शाह की इस मुलाकात का मकसद शिवसेना के गिले-शिकवे दूर करना है. दरअसल, केंद्र और महाराष्ट्र सरकार में बीजेपी की सहयोगी शिवसेना पिछले कुछ समय से नाराज चल रही है. ऐसे में बीजेपी लोकसभा चुनाव से पहले उसको मनाना चाहती है, क्योंकि एकजुट विपक्ष से निपटने के लिए बीजेपी के सामने अपने सहयोगी दलों को साधने की रणनीति अपनाना जरूरी है.

उद्धव ठाकरे से मिलने से पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह श्री सिद्धिविनायक मंदिर पहुंचे और पूजा-अर्चना की. सूत्रों के मुताबिक अमित शाह से मुलाकात के दौरान उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र में बीजेपी नेतृत्व की ओर से निजी हमले किए जाने के मसले को उठाने जा रहे हैं. इसमें खासकर मुंबई बीजेपी के अध्यक्ष और सांसद किरीट सोमैया के बयानबाजी का मामला छाया रह सकता है. इस दौरान उद्धव अमित शाह के सामने यह सवाल रख सकते हैं कि आखिर शिवसेना उसके साथ मिलकर चुनाव क्यों लड़े?

वहीं, बुधवार को अमित शाह और उद्धव की मुलाकात से पहले ही शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के जरिए बीजेपी पर हमला बोला. सामना के संपादकीय में लिखा गया कि अमित शाह इन चुनावों में किसी भी तरह 350 सीटें जीतना चाहते हैं. 2019 लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने संपर्क अभियान शुरू किया है.

शिवसेना ने कहा कि पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े हुए हैं. किसान सड़क पर हैं. इसके बावजूद बीजेपी चुनाव जीतना चाहती है. शिवसेना ने कहा कि जिस तरह बीजेपी ने साम, दाम, दंड और भेद के जरिए पालघर का चुनाव जीता, उसी तरह बीजेपी किसानों की हड़ताल को खत्म करना चाहती है. चुनाव जीतने की शाह की जिद को हम सलाम करते हैं.

सामना में लिखा गया कि एक ओर जहां मोदी पूरी दुनिया में घूम रहे हैं, वहीं शाह पूरे देश में घूम रहे हैं. बीजेपी को उपचुनावों में हार मिली है, क्या इसलिए अब उसने सहयोगी पार्टियों से मिलना शुरू कर दिया है.भले ही अब वो कनेक्शन बनाने की कोशिश करे, लेकिन अब बहुत देर हो चुकी है. उन्होंने कहा कि चंद्रबाबू नायडू एनडीए छोड़ गए, नीतीश कुमार भी अलग बयान दे रहे हैं.

रतन टाटा और माधुरी से भी मिले अमित शाह
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से पहले अमित शाह ने मुंबई में उद्योगपति रतन टाटा और अभिनेत्री माधुरी दीक्षित से भी मुलाकात की. हालांकि गायिका लता मंगेशकर की तबीयत खराब होने से उनकी अमित शाह से मुलाकात नहीं हो सकी. अमित शाह ने ट्वीट कर कहा कि वह अगले मुंबई दौरे पर उनसे मिलेंगे. इससे भी पहले इस अभियान के तहत वो बाबा रामदेव और कपिल देव जैसी हस्तियों से मिल चुके हैं.

अमित शाह इन मुलाकातों में मोदी सरकार के चार साल के कामकाज का ब्योरा दे रहे हैं. बताया जा रहा है कि सात जून को अमित शाह चंडीगढ़ में धावक मिल्खा सिंह से मुलाकात कर सकते हैं. मालूम हो कि बीजेपी का टारगेट करीब एक लाख नामित लोगों से सीधा संपर्क करने का है.

दोस्तों के साथ शेयर करे.....