Home भोपाल/ म.प्र अविश्वास प्रस्ताव गिरा, गीता हर्षाना बनी रहेंगी मुरैना जिला पंचायत अध्यक्ष

अविश्वास प्रस्ताव गिरा, गीता हर्षाना बनी रहेंगी मुरैना जिला पंचायत अध्यक्ष

0 24 views
Rate this post

मुरैना

NDIde;t nMtolt>

जिला पंचायत की अध्यक्ष गीता हर्षाना के खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव गिर गया। इससे अब गीता हर्षाना जिला पंचायत की अध्यक्ष बनी रहेंगी। हालांकि हत्या के मामले में वांछित होने से गीता हर्षाना अविश्वास के लिए बुलाई गई बैठक में नहीं आईं। बैठक में 14 सदस्य आए, लेकिन जिपं सदस्य राकेश सिंह के बैठक में शामिल न होने से प्रस्ताव गिर गया और अविश्वास प्रस्ताव को पारित के लिए वोटिंग भी नहीं हुई। गीता हर्षाना सहित छह सदस्य बैठक में नहीं आए।

जिला पंचायत अध्यक्ष गीता हर्षाना के खिलाफ 14 सदस्यों ने कलेक्टर के समक्ष अविश्वास प्रस्ताव पेश किया था। बुधवार को अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए जिपं की विशेष सभा बुलाई गई थी। अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग होने की संभावना थी, इसलिए कलेक्टर भास्कर लक्षाकार व एसपी आदित्य प्रतापसिंह सहित एडीएम व अन्य अफसर भी मौजूद थे।

चर्चा के दौरान की गिर गया अविश्वास प्रस्ताव
अविश्वास प्रस्ताव के पारित होने के लिए 14 सदस्यों के 14 मतों की जरूरत थी। हालांकि परिसर में 14 सदस्य पहुंचे, लेकिन सदन में महज 13 सदस्य ही पहुंचे। जिपं सदस्य राकेश रुस्तम सिंह आए जरूर, लेकिन प्रक्रिया में शामिल नहीं होने से सदस्यों की संख्या कम रह गई। इसलिए सभी सदस्यों ने मौखिक तौर पर ही वोटिंग कराने से मना कर दिया। इसके बाद कलेक्टर भास्कर लक्षाकार ने अविश्वास प्रस्ताव के पारित न होने की बात मीडिया को बताई। इस तरह गीता हर्षाना के खिलाफ लाया गया प्रस्ताव गिर गया और वे अब आगामी ढाई साल तक के लिए अध्यक्ष बनी रहेंगी।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....