Home फीचर आंबेडकर जयंती: मोदी बोले, मैं बाबा साहेब की वजह से PM

आंबेडकर जयंती: मोदी बोले, मैं बाबा साहेब की वजह से PM

0 50 views
Rate this post

बीजापुर

आंबेडकर जयंती पर बीजापुर में आयुष्मान भारत की नींव रखने पहुंचे पीएम मोदी ने एक तीर से दो निशाने साधे हैं। एक तरफ तो पीएम मोदी ने आजादी के इतने सालों बाद भी बीजापुर के पिछड़ेपन को लेकर पिछली सरकारों को कोसा, वहीं दूसरी तरफ आंबेडकर की तारीफ कर दलित समुदाय की नाराजगी को भी दूर करने की कोशिश की। पीएम मोदी ने कहा कि आज अगर एक गरीब मां का बेटा और अति पिछड़े तबके से आने के बावजूद वह पीएम हैं तो बाबा साहब भीमराव आंबेडकर की देन है।

आपको बता दें कि एससी-एसटी ऐक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद से विपक्ष केंद्र की बीजेपी सरकार को दलित विरोधी बता रहा है। इसे लेकर 2 अप्रैल को हिंसक आंदोलन भी हो चुके हैं। ऐसे में पीएम ने खुद को जोड़ते हुए आंबेडकर जयंती पर दलित समुदाय को भरोसे में लेने की पूरी कोशिश की। आयुष्मान भारत की लॉन्चिंग के लिए बीजापुर पहुंचे पीएम ने आंबेडकर की 127वीं जयंती पर विपक्षी हमले का भी करारा जवाब दिया।

पीएम मोदी ने कार्यक्रम में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, ’14 अप्रैल का दिन देश के सवा सौ करोड़ लोगों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। आज भारत रत्न बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की जयंती है। आज के दिन आप सभी के बीच आकर आशीर्वाद लेने का अवसर मिलना मेरे लिए बहुत सौभाग्य की बात है।’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘बाबा साहेब उच्च शिक्षित थे। अगर वह चाहते तो दुनिया के समृद्ध देशों में बहुत शानदार जिंदगी बिता सकते थे लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। विदेश से पढ़ाई कर वापस आए और अपना जीवन पिछड़े, वंचितों, दलितों, आदिवासियों के लिए समर्पित कर दिया।’ उन्‍होंने कहा कि विकास की दौड़ में जो लोग पीछे छोड़ दिए गए उनमें अधिकार की आकांक्षा पैदा हुई है, चेतना जगी है, ये चेतना बाबा साहब आंबेडकर की ही देन है।

पीएम मोदी ने कहा, ‘एक गरीब मां का बेटा, अति पिछड़े समाज से आने वाला आपका साथी देश का प्रधानमंत्री है तो यह बाबा साहेब की देन है।’ प्रधानमंत्री ने ग्राम स्‍वराज अभियान की भी शुरुआत की। उन्‍होंने कहा कि यह अभियान शोषित, दलित, वंचित महिलाओं को ताकत देने के लिए शुरू किया गया है जो आज से 5 मई तक चलाया जाएगा। बाबा साहेब की जयंती पर केंद्र सरकार और राज्य की जिन योजनाओं की शुरुआत हुई है, वे नए कीर्तिमान बनाएंगी।

प्रधानमंत्री ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना के पहले चरण को शुरू किया गया है जिसमें प्राथमिक स्वास्थ्य से जुड़े विषयों में बड़े बदलाव लाने का प्रयास किया जाएगा। देश की हर बड़ी पंचायत में लगभग डेढ़ लाख जगहों पर सब सेंटर और प्राइमरी हेल्थ सेंटर्स को हेल्थ ऐंड वेलनेस सेंटर के रूप में विकसित किया जाएगा।

इसलिए चुना बीजापुर
उन्‍होंने बताया कि आयुष्मान भारत की योजना के पहले चरण को आंबेडकर जयंती के दिन बीजापुर से प्रारंभ किया जा रहा है। पीएम मोदी ने कहा, ‘मैंने बीजापुर जिले को क्यों चुना, इसकी वजह है। एक पुराना किस्सा। पढ़ने-लिखने में तेज नहीं था, मामूली विद्यार्थी था। कुछ बच्चे मुझसे भी कमजोर थे। कमजोर को प्रोत्साहन दो तो वह भी आगे निकल जाता है। बीजापुर पर भी कमजोर और पिछड़े जिले का लेबल लगा दिया गया है। बीजापुर अकेला जिला नहीं है। 100 से अधिक जिले हैं। मैंने जनवरी में इन 100-125 जिलों के लोगों को बुलाया था। कहा था कि इन 3 महीनों में जो सबसे आगे आएगा वहां मैं जाऊंगा। बीजापुर के अधिकारियों ने इस करके दिखाया और मैं यहां पर आया हूं।’

पिछली सरकारों पर उठाया सवाल
पिछली सरकारों पर सवाल उठाते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘स्वतंत्रता के बाद, इतने वर्षों में भी ये जिले पिछड़े बने रहे, इसमें उनकी कोई गलती नहीं। बाबा साहेब के संविधान ने इतने अवसर दिए, आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया, लेकिन फिर भी बीजापुर जैसे जिले, विकास की दौड़ में पीछे क्यों छूट गए?’

दोस्तों के साथ शेयर करे.....