Home फीचर कर्नाटक: वोटरों को प्रभावित करने फ्लैट में रखे गए फर्जी वोटर आईडी-...

कर्नाटक: वोटरों को प्रभावित करने फ्लैट में रखे गए फर्जी वोटर आईडी- EC

0 36 views
Rate this post

बेंगलुरु

चुनाव आयोग का कहना है कि सोची समझी रणनीति के तहत कर्नाटक के बेंगलुरु स्थित राजा राजेश्वरी नगर में एक फ्लैट में वोटर आईडी कार्ड रखा गया था. वोटरों को प्रभावित करने के लिए मिडिलमैन के जरिये इन्हें चुनाव में शामिल करने का प्लान बनाया गया था.फ्लैट में मिले वोटर आईडी कार्ड के बारे में बताते हुए चुनाव आयोग ने कहा कि 9,896 वोटर आईडी के अलावा 6,342 वोटर एकनॉलेजमेंट फॉर्म की रसीद और बीबीएमपी मुहरों के बिना 20,700 एकनॉलेजमेंट रसीदें भी मिलीं. चुनाव आयोग ने कहा कि सारे वोटर आईडी कार्ड असली थे.

चुनाव आयोग ने कहा, “घरों की तस्वीरों के साथ परिवार संख्या के नाम, बिजली मीटर संख्या, मोबाइल विवरण, जाति, मतदाता पहचान, आधार आईडी, विधवा आईडी और बीपीएल कार्ड भी मिले हैं.”कर्नाटक के मुख्य चुनाव अधिकारी संजीव कुमार ने कहा कि दिल्ली से एक डिप्टी चुनाव आयुक्त रैंक के अधिकारी को विस्तृत जांच के लिए बेंगलुरू भेजा जा रहा है. उन्होंने ये भी कहा कि शुरुआती जांच में ये वोटर आईडी कार्ड फर्जी नहीं दिख रहे हैं. जांच के बाद तस्वीर साफ हो जाएगी.

कुमार ने कहा कि चुनाव पैनल शुरू में चिंतित था कि किसी ने सिस्टम को तोड़ते हुए फर्जी आईडी कार्ड बनाए थे, लेकिन ऐसा नहीं था. उन्होंने कहा “हमने पाया है कि ऐसा नहीं हुआ है. मतदाताओं को प्रभावित करने का प्रयास किया गया है.”

क्या है पूरा मामला?
मंगलवार को चुनाव आयोग ने कर्नाटक के बेंगलुरु के राज राजेश्वरी नगर के जलाहल्ली में एक फ्लैट से 9,746 वोटर आईडी कार्ड बरामद किए जाने की पुष्टि की. ये कार्ड कागज में लपेटकर रखे गए थे. वोटर आईडी कार्ड का बवाल इतना बढ़ा राज्य चुनाव आयोग को आधी रात को प्रेस कॉन्फ्रेंस करनी पड़ी. बीजेपी का आरोप है कि ये फ्लैट कांग्रेस के एक विधायक का है.

बीजेपी ने की इस सीट पर चुनाव रद्द करने की मांग
बीजेपी ने राज राजेश्वरी सीट का चुनाव रद्द करने की मांग की है. बीजेपी की ओर से इस संबंध में पुलिस में भी शिकायत की गई है. कई केन्द्रीय मंत्रियों की भागीदारी वाले बीजेपी के एक प्रतिनिधिमंडल ने भी इसके कुछ घंटे बाद चुनाव आयोग से मुलाकात की और चुनाव को रद्द करने की मांग वाला ज्ञापन सौंपा. सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा, ‘‘भाजपा के शीर्ष नेताओं ने चुनाव आयोग से मांग की कि चुनाव को रद्द किया जाए ताकि मतदाताओं का विश्वास बहाल हो सके.”

प्रतिनिधिमंडल ने आयोग से इस मामले में विस्तृत जांच कर अन्य सीटों पर भी इसी तरह के हथकंडे अपना कर चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करने की कोशिशों का पता लगाने की मांग की है. राज्य की 224 सीटों पर 12 मई को मतदान होना है.

कांग्रेस ने BJP को घेरा
दिल्ली में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बीजेपी को ही कटघरे में घेरा. इस दौरान उन्होंने उस फ्लैट का विडियो भी दिखाया जिसमें वोटर आईडी कार्ड जब्त किए गए थे और बताने की कोशिश की कि किस तरह इसमें बीजेपी के ही लोग शामिल हैं. वरिष्ठ कांग्रेसी नेता आनंद शर्मा ने हालांकि इस पूरी घटना को सुनियोजित बताया. उन्होंने दावा किया कि मंजुला भाजपा के साथ जुड़ी हैं और उनके बेटे राकेश ने भाजपा के टिकट पर नगर निगम का चुनाव लड़ा था. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा की अगुवाई में पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने नयी दिल्ली में चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात की. उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी चुनावी कदाचार में संलिप्त हो रही है.

दोस्तों के साथ शेयर करे.....