Home फीचर कहां गायब हो रहे हैं 2000 रुपये के नोट? MP के मुख्यमंत्री...

कहां गायब हो रहे हैं 2000 रुपये के नोट? MP के मुख्यमंत्री ने बताया साजिश

0 31 views
Rate this post

नई दिल्ली

ब्लैक मनी खत्म करने के लिए की गई नोटबंदी के बाद जारी 2000 रुपये के नोट पर भी क्या कालेधन के कारोबारियों ने कुंडली मार ली है? या रिजर्व बैंक ने ही बड़े नोटों की सप्लाई कम कर दी है? 2000 रुपये के नोटों की कमी चर्चा का विषय बना हुआ है। मध्य प्रदेश, बिहार और गुजरात सहित कई राज्यों से कैश किल्लत की खबरें सामने आ रही हैं। मध्य प्रदेश में तो स्थिति इतनी भयावह हो चुकी है कि सोमवार को खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसके पीछे साजिश की आशंका जाहिर करते हुए जांच की बात कही है।

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि बैंक शाखाओं और करंसी चेस्ट में भी 2000 रुपये के नोटों की आवक लगातार कम हो रही है। आरबीआई ने नोटबंदी के बाद करीब 7 लाख करोड़ रुपये से मूल्य के 2000 रुपये के नोट जारी किए थे। जुलाई में बैंकों में इन नोटों की संख्या करीब 35 फीसदथी जो नवंबर 2017 तक घटकर 25 फीसद हो गई। बैंकों से जमा नकदी रोजाना औसतन 14 करोड़ से घटकर 4 करोड़ रह गई है।

मध्यप्रदेश सहित देश के अनेक राज्यों में एटीएम में नकदी की कमी के बीच मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कुछ लोग 2,000 के नोट दबाकर नकदी की कमी पैदा करने की की साजिश रच रहे हैं। चौहान ने किसान महासम्मेलन में कहा, ‘जब (नवंबर 2016 में) नोटबंदी हुई थी तब 15 लाख करोड़ रुपये के नोट बाजार में थे और आज साढ़े 16 लाख करोड़ के नोट छापकर बाजार में भेजे गये हैं। लेकिन 2-2 हजार के नोट कहां जा रहे हैं, कौन दबाकर रख रहा है, कौन नकदी की कमी पैदा कर रहा है। यह षड्यंत्र है।’

चौहान ने कहा कि यह षड्यंत्र इसलिए किया जा रहा है, ताकि दिक्कतें पैदा हो। उन्होंने कहा, ‘आज प्रदेश में नगदी की कमी पैदा की जा रही है, इससे राज्य सरकार निपटेगी। प्रदेश सरकार इस पर सख्ती से कार्रवाई करेगी।इस संबंध में हम केंद्र से भी बात कर रहे हैं।’

बाजारों से 2 हजार रुपए के नोट गायब होना भी षड्यंत्र : शिवराज सिंह
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि बाजारों से 2 हजार स्र्पए के नोट गायब होना भी षड्यंत्र है। केंद्र व प्रदेश सरकार इस पर सख्त कार्रवाई करेगी।शिवराज सोमवार को शाजापुर में किसान महासम्मेलन में संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि देश में नोट की कृत्रिम कमी पैदा की जा रही है। इस आयोजन के बहाने सीएम ने कांग्रेस पर तीखे हमले किए। कलश यात्रा पर जमकर तंज कसते हुए बोले कि कांग्रेस लाशों पर राजनीति कर रही है। प्रदेश में आग लगाना और दंगे फैलाना चाहती है। कांग्रेस के इस षड्यंत्र को कामयाब नहीं होने दूंगा।

शिवराज ने मंच से ही मुख्यमंत्री किसान समृद्धि योजना के तहत प्रदेश के 10.21 लाख किसानों के खाते में 1669 करोड़ स्र्पए एक क्लिक में पहुंचाए। मंच से ही 3 हजार करोड़ से अधिक के विकास कार्यों का लोर्कापण और भूमिपजून किया। उल्लेखनीय है कि किसानों को न्याय दिलाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव, नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह न्याय कलश यात्रा निकाल रहे हैं।

दोपहर 1 बजे शाजापुर पहुंचे मुख्यमंत्री चौहान ने भाषण में शुरुआत से लेकर आखिरी तक कांग्रेस को कई बार कोसा। मंदसौर कांड समेत कांग्रेस की कलश यात्रा का जिक्र किया। कहा कि कांग्रेस राज में प्रदेश में साढ़े 7 लाख हेक्टेयर जमीन में ही सिंचाई होती थी। अब 40 लाख हेक्टेयर क्षमता हो गई है। कांग्रेस राज में प्रदेश की जनता ने काले दिन ही देखे थे। आज पानी, बिजली, सड़क जैसी मूलभूत सुविधाएं मिल रही हैं।

अस्पताल में मृत घोषित
सभा से पहले जिले के ग्राम टांडा बोर्डी के 70 वर्षीय बद्रीलाल पिता धूलजी की अचानक तबीयत बिगड़ गई। उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। इधर, कार्यक्रम में ही तेज हवा चलने से शुजालपुर के राणोगंज निवासी 58 वर्षीय कचरू पिता बापू पुरी पर टेंट गिर गया। इससे कचरू को घायल हो गया।। जिले के ग्राम पिपलोदा में ही बस पलटने से पांच-छह किसान घायल हुए हैं।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....