Home राज्य गरीबों के लिए आयुष्मान स्कीम, लाभार्थियों में विधायक-कारोबारी!’

गरीबों के लिए आयुष्मान स्कीम, लाभार्थियों में विधायक-कारोबारी!’

0 59 views
Rate this post

ग्रेटर नोएडा

आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना में करोड़पति माननीयों, सरकारी कर्मचारियों और कारोबारियों को भी बीमे का आशीर्वाद मिल रहा है। पात्र लाभार्थियों की सूची में दादरी के विधायक तेजपाल नागर और गाजियाबाद के पूर्व विधायक सुरेश चंद बंसल व उनके परिवार का भी नाम है। इन्हें 5 लाख रुपये के बीमे का लाभ मिलना है।

यह सूची सन 2011 की सामाजिक आर्थिक जातीय जनणगना में लापरवाही का नमूना है। सूची में शामिल लोगों को पता ही नहीं कि उनका नाम इस सूची में है। वहीं, काफी ऐसे लोग हैं, जो गरीब होते हुए भी इस सूची में नहीं आ सके। पात्रों की सूची में अपना नाम देखकर कुछ लोग हैरान भी हो रहे हैं। लिस्ट कितनी गंभीरता से तैयार की गई, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसमें दादरी के विधायक तेजपाल नागर और गाजियाबाद के पूर्व विधायक एवं बीएसपी नेता सुरेश चंद बंसल व उनके परिवार का भी नाम है।

सुरेश चंद बंसल दादरी नगर पालिका परिषद के लंबे समय तक चेयरमैन रहे हैं। उनका बेटा दीपक बंसल बिल्डर है। इसी तरह दादरी की गुर्जर कॉलोनी में रहने वाले हरिराज सिंह और बलराज सिंह की ग्रेटर नोएडा में मार्केट है। महेंद्र सिंह रिटायर्ड प्रिंसिपल हैं और विधान परिषद सदस्य का चुनाव लड़ चुके हैं। इसी तरह राजाराम नागर, मूलचंद कसाना, सुरेंद्र कपासिया और अजब सिंह मावी समेत कई व्यापारियों, कारोबारियों और एक अन्य पूर्व विधायक का भी इसमें नाम है। दादरी विधायक तेजपाल नागर के बेटे दीपक नागर ने बताया कि उनके घर भी टीम आई थी। वह बीमे की बात सुनकर हैरान रह गए। उन्होंने बीमा कराने से इनकार कर दिया है। इसी तरह आरटीओ के रिटायर्ड अधिकारी सुरेंद्र कपासिया ने भी इनकार करते हुए टीम को वापस लौटा दिया।

ये होंगे लाभ
प्रधानमंत्री राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन के तहत आयुष्मान भारत योजना के तहत सूचीबद्ध निजी एवं सरकारी अस्पतालों में 5 लाख रुपये तक की निशुल्क चिकित्सकीय सुविधा मिलेगी।

ये होंगे पात्र
आवासहीन, बेसहारा, दिव्यांग, भूमिहीन मजदूर, गरीब, अनुसूचित जाति/जनजाति और दुर्बल आय वर्ग के ऐसे परिवार जिनका नाम सन 2011 की सामाजिक आर्थिक जातीय जनणगना में शामिल है।

करीब 10 हजार लोगों को मिलेगा लाभ
जिले में करीब 10 हजार परिवारों को इस योजना का लाभ मिलेगा। इनमें 9 हजार से अधिक परिवार अकेले दादरी में ही हैं। सूची में शामिल परिवारों के घर स्वास्थ्य विभाग और नगर पालिका परिषद के कर्मचारी जाकर सत्यापन और दस्तावेज कलेक्शन का काम कर रहे हैं। परिवार में अगर सदस्यों की संख्या घट या बढ़ गई है तो उसे भी अपडेट किया जा रहा है।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....