Home खेल गांगुली की कोहली को सलाह, हर मैच में बदलाव करना ठीक नहीं

गांगुली की कोहली को सलाह, हर मैच में बदलाव करना ठीक नहीं

0 60 views
Rate this post

नई दिल्ली

सौरभ गांगुली ने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को सलाह दी है कि वह मौजूदा बैटिंग लाइन-अप में भरोसा जताएं और टीम के संयोजन के साथ ज्यादा छेड़छाड़ न करें। केप टाउन टेस्ट में अंतिम एकादश में अजिंक्य रहाणे के स्थान पर रोहित शर्मा को मौका देने के कोहली के फैसले की काफी आलोचना हो रही है।

रोहित ने दोनों पारियों में कुल मिलाकर 21 रन बनाए थे। भारत को इस मैच के चौथे दिन ही 72 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। टीम के सलामी बल्लेबाजों को लेकर भी काफी चर्चाएं हुईं। खास तौर पर खिखर धवन को आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। धवन दोनों पारियों में शॉर्ट पिच पर गेंद पर आउट हुए। ऐसे में उनके स्थान पर तकनीकी रूप से अधिक सक्षम माने जाने वाले लोकेश राहुल को अंतिम एकादश में शामिल करने की बात भी हो रही है।

हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया में लिखे अपने कॉलम में गांगुली ने कहा कि भारतीय टीम को शनिवार से सेंचुरियन में शुरू हो रहे दूसरे टेस्ट के लिए टीम में कोई बदलाव नहीं करना चाहिए।

गांगुली ने लिखा, ‘विराट कोहली को टीम के संयोजन को लेकर चिंता नहीं करनी चाहिए।’ उन्होंने लिखा, ‘हालांकि केएल राहुल और अजिंक्य रहाणे का भारत से बाहर रेकॉर्ड अच्छा है लेकिन भारत हर मैच में टीम में बदलाव नहीं कर सकता। टीम ने इस बल्लेबाजी क्रम में भरोसा जताया है और दूसरे टेस्ट में भी टीम को इसे कायम रखना चाहिए। टीम को अभी दो टेस्ट मैच और खेलने हैं और मुझे लगता है कि तीनों मैचों का नतीजा जरूर निकलेगा।’

पूर्व कप्तान ने पांच गेंदबाज खिलाने के कप्तान कोहली के फैसले का भी समर्थन किया। उन्होंने कहा कि भारत केप टाउन टेस्ट जीतने के करीब इसलिए पहुंच पाया क्योंकि गेंदबाजों ने साउथ अफ्रीका के 20 विकेट झटक लिए थे। उन्होंने कहा कि अगले दो मैचों में भी भारत को पांच गेंदबाजों के साथ ही उतरना चाहिए।

गांगुली ने कहा, ‘टीम के संयोजन को लेकर काफी बातें की जा रही हैं। भारत ने पांच गेंदबाजों को मौका देकर बहुत सही फैसला किया। टेस्ट मैच जीतने के लिए आपको जितना रन बनाना जरूरी है उतना ही 20 विकेट लेना भी जरूरी है।’

सौरभ गांगुली 24 वर्षीय ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या के खेल से भी काफी खुश हैं। गांगुली ने कहा, ‘हार्दिक पंड्या ने बल्ले से अच्छा प्रदर्शन किया और उनके खेल की तारीफ होनी चाहिए लेकिन कुल मिलाकर समस्या संपूर्ण बल्लेबाजी में है और इसे जल्द ही दुरुस्त किए जाने की जरूरत है। जो खिलाड़ी अंतिम एकादश में शामिल नहीं हैं उन्हें लेकर काफी चर्चाएं हो रही हैं लेकिन जब आप हारते हैं तो ऐसी बातें होती ही हैं।’

दोस्तों के साथ शेयर करे.....