Home भोपाल/ म.प्र गोविंदपुरा के उद्योगपति को छह माह की सजा

गोविंदपुरा के उद्योगपति को छह माह की सजा

0 565 views
Rate this post

भोपाल।

भेल से लगे गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र के एक उद्योगपति को मानहानि के मामले में भोपाल कोर्ट के प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट ने छह महीने की साधारण कारावास की सजा सुनाई है। जानकारी के मुताबिक मेसर्स सौरभ मेटल्स प्राइवेट लिमिटेड मंडीदीप और हबीबगंज के उद्योगपति राकेश अग्रवाल ने एक परिवाद भोपाल के प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट साबिर अहमद खान की अदालत में इण्डस्ट्रीयल एरिया गोविंदपुरा के एक उद्योगपति और रेल्वे कंपोनेंट्स सप्लायर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अनुपम लहरी के खिलाफ वर्ष 2009 में पेश किया था। परिवादी का आरोप था कि आरोपी ने बीएचईएल भोपाल में पढ़े जाने के लिए आशायित शब्दों एवं चित्रों का एक चार पेज का जिसके साथ 11 दस्तावेज संलग्न किए थे भेजकर परिवादी राकेश अग्रवाल व उसके प्रतिष्ठान को बदनाम करने के लिए प्रकाशित किए थे। परिवादी ने अपने वाद पत्र में कहा कि आरोपी कि रेल्वे कंपोनेंट्स सप्लायर एसोसिएशन नामक संस्था रजिस्ट्रर्ड तक नहीं है। आरोपी ने यहां तक आरोप लगाए कि परिवादी बीएचईएल में ट्रांसफर, पोस्टिंग व प्रमोशन के सुप्रीमो हैं। इसी तरह के कई लांछन परिवादी वादी द्वारा लगाए गए हैं जो मानहानि कारक हैं। इस प्रकरण में माननीय न्यायालय ने दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद धारा 500 भादवि के अंतर्गत आरोपी अनुपम लहरी के खिलाफ फैसला सुनाते हुए छह माह का साधारण कारावास व एक हजार रुपए का आर्थिक दंड दिया है। विद्यमान न्यायाधीश ने आरोपी के अनुरोध पर कि वह 70 वर्षीय बुर्जुग व्यक्ति है और यह उसका पहला अपराध है साथ ही मामला छह साल से न्यायालय में चल रहा है इसलिए उसे रिहा किया जाए। फिर भी न्यायाधीश ने अपराध की प्रवृति और आयु को देखते हुए इस सजा को कम किया है। परिवादी की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता विजय चौधरी और आरोपी की ओर से हरीश मेहता ने पैरवी की।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....