Home भोपाल/ म.प्र गौर ने लगाया आरोप : प्रदेश में चौपट हो गई शिक्षा व्यवस्था

गौर ने लगाया आरोप : प्रदेश में चौपट हो गई शिक्षा व्यवस्था

0 55 views
Rate this post

भोपाल

पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने मंगलवार को विधानसभा में आरोप लगाया कि प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था चौपट हो गई है। 41 हजार 340 शिक्षकों को बूथ लेवल ऑफिसर बनाकर चुनाव ड्यूटी में लगाया गया है। इससे पढ़ाई प्रभावित हो रही है। उन्होंने सवाल उठाया कि दूसरे विभागों के कर्मचारियों को इस काम में क्यों नहीं लगाया जाता है। सामान्य प्रशासन राज्यमंत्री लालसिंह आर्य ने गौर के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था चौपट नहीं हुई है। शिक्षक पढ़ाने के अलावा अवकाश के दिन यह काम करते हैं।

प्रश्नकाल के दौरान गौर ने सवाल उठाया कि जब आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, पटवारी, अमीन, लेखपाल, पंचायत सचिव, ग्राम स्तरीय कार्यकर्ता, बिजली बिल रीडर, डाकिया, सहायक नर्स या मिड वाइफ, स्वास्थ्य कार्यकर्ता, संविदा शिक्षक, दोपहर का भोजन कार्यकर्ता, निगम कर संग्रह कर्मचारी और शहरी क्षेत्रों में लिपकीय स्टाफ को बीएलओ बनाया जा सकता है तो फिर इन्हें ड्यूटी पर क्यों नहीं लगाया जाता है। इसकी वजह से शिक्षा व्यवस्था चौपट हो गई है।

जब लालसिंह आर्य ने इसे खारिज किया तो गौर ने बताया कि एक रिपोर्ट के हिसाब से गणित में प्रदेश का स्थान 29वां और भाषा में 26वां है। सामान्य प्रशासन राज्यमंत्री ने यह भी बताया कि बीएलओ की ड्यूटी बदलती रहती है। सालभर में दो-तीन बीएलओ बदल जाते हैं। जिला निर्वाचन कार्यालयों में 86 शिक्षक संलग्न हैं।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....