Home खेल जब अंपायर की गलती से मुंबई इंडियंस को मिली फ्री हिट

जब अंपायर की गलती से मुंबई इंडियंस को मिली फ्री हिट

0 37 views
Rate this post

कोलकाता

मौजूदा आईपीएल सीजन में बुधवार को ऐसा दूसरी बार हुआ जब अंपायर ने गलती से वैध गेंद को नो बॉल करार दे दिया और नतीजतन बल्लेबाज को फ्री हिट मिल गई। ताजा वाकया बुधवार को कोलकाता के ईडन गार्डन्स मैदान में कोलकाता नाइट राइडर्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेले गए मुकाबले का है। अंपायर के. एन. अनंत पद्मनाभन की गलती से मुंबई इंडियंस को एक ऐसी फ्री-हिट मिली, जो उसे नहीं मिलनी चाहिए थी। केकेआर की गेंदबाजी के 16वें ओवर में अंपायर ने टॉम कुरेन की गेंद को नो बॉल करार दिया जबकि टीवी रीप्ले में साफ था कि गेंदबाज का पैर क्रीज के भीतर था।

कोलकाता के 16वें ओवर में कुरेन की पांचवीं गेंद को अंपायर ने नो बॉल करार दिया। इस गेंद पर रोहित शर्मा ने सिंगल लिया था। अब सामने हार्दिक पंड्या थे जिन्हें फ्री हिट गेंद मिली। कुरेन गेंद फेंकने की तैयारी कर रहे थे। तभी फील्डर रिंकू सिंह की निगाह टीवी स्क्रीन पर दिख रहे रीप्ले पर गई, जिसमें दिख रहा था कि गेंदबाज का पैर क्रीज के भीतर था। रिंकू सिंह ने यह सूचना कुरेन को दी और कुरेन ने कप्तान दिनेश कार्तिक को। कार्तिक और कुरेन ने अंपायर से उनके गलत फैसले को लेकर बात की लेकिन अंपायर ने साफ कहा कि फैसला बदला नहीं जा सकता। आखिरकार पंड्या को फ्री हिट गेंद मिली लेकिन वह इसका फायदा नहीं उठा पाए। उस फुल टॉस गेंद पर पंड्या सिर्फ एक रन ले सके।

इस तरह कोलकाता को अंपायर के गलत फैसले का खामियाजा 2 अतिरिक्त रन देकर भुगतना पड़ा। वैसे नो बॉल के गलत फैसले का खामियाजा गेंदबाजों को ही भुगतना पड़ रहा है। ऐसा अक्सर देखा गया है कि अगर कोई बल्लेबाज आउट हो गया हो और टीवी रीप्ले में दिख रहा हो कि गेंदबाज का पैर क्रीज से बाहर था तो अंपायर अपना फैसला बदलकर बल्लेबाज को वापस बुला लेते हैं। वैसे इस सीजन में यह पहली बार नहीं हुआ है जब अंपायर ने वैध गेंद को नो बॉल करार दिया हो। कुछ दिन पहले ऐन्ड्रयू टाइ को फील्ड अंपायर के गलत फैसले का खामियाजा भुगतना पड़ा था। उनका पैर क्रीज के भीतर था लेकिन अंपायर ने नो बॉल करार दिया था।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....