Home खेल जब सचिन ने मिताली राज से कहा था, अब हार मत मानना

जब सचिन ने मिताली राज से कहा था, अब हार मत मानना

0 70 views
Rate this post

नई दिल्ली

बात कुछ महीने पहले की है। जब भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज वर्ल्ड कप में खेल रही थीं। मिताली ने इस दौरान एक बड़ी उपलब्धि अपने नाम की और 6000 रन पूरे करने वाली दुनिया की पहली महिला क्रिकेटर बनीं।

मिताली को इस मौके पर बधाई देने वालों में दिग्गज भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंडुलकर भी शामिल थे। सचिन ने तब मिताली से कहा था कि अब, हार मत मानना। मिताली ने बुधवार को ‘इंटरनैशनल डे ऑफ गर्ल चाइल्ड’ के मौके पर यह जानकारी दी। UNICEF और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के एक कार्यक्रम में मिताली ने कहा, ‘जब मैंने अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट में 6000 रन पूरे किए तो सचिन सर मेरे पास आए और मुझे बधाई दी। उन्होंने तब मुझसे कहा था कि अब हार मत मानना। सचिन सर की यह बात मुझे हमेशा याद रहेगी।’

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान ने कहा, सचिन सर ने मुझसे कहा था कि अभी आपको कई और साल खेलना है और यही जज्बा बरकरार रखना है। फिर जब हम वर्ल्ड कप के बाद स्वदेश लौटे तो मैंने लोगों से यही कहा कि मैं 2021 महिला वर्ल्ड कप में खेलूंगी और टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व करूंगी। मिताली ने बताया कि सचिन ने उन्हें अपना बैट भी गिफ्ट किया था।

34 वर्षीय मिताली ने कहा, सचिन सर ने मुझे अपना बैट भी गिफ्ट किया था जो मेरे लिए बेहद खास है। मैंने उस बैट से काफी रन बनाए और लंदन में भी उस बैट से खेली। इस कार्यक्रम में सचिन तेंडुलकर भी मौजूद थे।

दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंडुलकर ने कहा कि लड़कियों को भी उनकी इच्छाएं पूरी करने का मौका देना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘मैं पिछले साल रियो में गया था और ओलंपिक में खेलने गए भारतीय एथलीटों से मिला। उन्हें शुभकामनाएं दीं और साथ ही जाना कि इस बड़े मंच तक पहुंचने के लिए उनमें से कुछ को कितना संघर्ष करना पड़ा। उन्होंने कहा, ‘सपने कभी पक्षपात नहीं करते लेकिन हम करते हैं। मैं नहीं जानता कि ऐसा क्यों होता है।’

उन्होंने कहा, ‘मेरे घर में मेरी बहनों को वह काम करने की इजाजत थी जो मेरे भाइयों को थी। घर में कभी लड़के और लड़की के बीच भेदभाव नहीं हुआ। मैं काफी महिला खिलाड़ियों को खेलते देख बड़ा हुआ। मेरा मानना है कि कभी लड़के और लड़कियों के बीच भेदभाव नहीं होना चाहिए।’

दोस्तों के साथ शेयर करे.....