Home भोपाल/ म.प्र जानिए, कौन हैं विनायक, जिन्हें भय्यूजी सौंप गए दौलत

जानिए, कौन हैं विनायक, जिन्हें भय्यूजी सौंप गए दौलत

0 43 views
Rate this post

अहमदनगर

भय्यूजी महाराज की कथित खुदकुशी के बाद उनके करीबी विनायक दुधाड़े का नाम चर्चा में है। सूइसाइड नोट के मुताबिक आध्यात्मिक गुरु भय्यूजी महाराज ने उन्हें अपनी संपत्ति का उत्तराधिकारी घोषित किया है। इसी के बाद से हर कोई जानता है कि आखिर विनायक दुधाड़े कौन हैं?

अहमदनगर से इंदौर आए थे पुरखे
भय्यूजी की मौत से पहले कम ही लोगों ने विनायक का नाम सुना था। विनायक भय्यूजी महाराज के सबसे विश्वासपात्र सहयोगियों में से एक हैं। वह महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के पारनेर तालुका में स्थित एक गांव लोनी-हवेली के रहने वाले हैं। विनायक के बाबा भीकाजी गणपत दुधाड़े रोजी-रोटी की तलाश में अहमदनगर से मध्य प्रदेश के इंदौर चले आए थे। भीकाजी के तीन पुत्र थे- काशीनाथ, गोरख और विष्णु। इनमें से काशीनाथ भय्यूजी महाराज के अनुयायी हैं। विनायक इन्हीं काशीनाथ के पुत्र हैं।

भय्यूजी महाराज से ऐसे जुड़े विनायक
2002-03 में कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के बाद काशीनाथ ने विनायक को इंदौर वापस बुला लिया। उनको भरोसा था कि भय्यूजी महाराज उनके बेटे को अच्छी नौकरी दिलाने में मदद करेंगे। इंदौर लौटने के बाद विनायक ने भय्यूजी के आश्रम आना-जाना शुरू कर दिया। ईमानदार, समय के पाबंद, वफादार और मृदुभाषी विनायक ने जल्द ही भय्यूजी महाराज का दिल जीत लिया।

भय्यूजी के पारिवारिक मामलों में भी दखल
बहुत ही कम समय में विनायक भय्यूजी महाराज के सबसे करीबी लोगों में शुमार होने लगे। इसी दौरान भय्यूजी ने अपने आश्रम के सभी वित्तीय अधिकार विनायक को दे दिए। यही नहीं भय्यूजी का सिर पर हाथ होने के बाद विनायक ने उनके परिवार के मामलों में भी दखल देनी शुरू कर दी। अब भय्यूजी महाराज के दूसरे कथित सूइसाइड नोट में विनायक को वित्तीय अधिकार सौंपे जाने की बात है। इसी के साथ देशभर में विनायक की चर्चा हो रही है। विनायक के रिश्तेदारों का कहना है कि वह अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी निभाएंगे।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....