Home भेल न्यूज़ टेंडर प्रक्रिया में देरी से जवाहर बाग के आम का लुफ्त नहीं...

टेंडर प्रक्रिया में देरी से जवाहर बाग के आम का लुफ्त नहीं उठा पा रहे है लोग

0 150 views
Rate this post

भोपाल

भेल क्षेत्र के गोविंदपुरा आईटीआई मार्ग स्थित भेल के जवाहर आम बाग जो कि लगभग 40 एकड़ से ज्यादा क्षेत्रफल में फैला है। इस बाग में एक हजार से ज्यादा नस्ल के आम के पेड़ लगे है। आम की ब्रिकी के लिए हर वर्ष भेल नगर प्रशासन विभाग द्वारा ठेका दिया जाता है। इस साल ठेके में देरी होने के कराण आम आदमी जवाहर बाग के आमों का लुफ्त नहीं उठा पा रहे हैं। बगीचे के बाहर आम की ब्रिकी के लिए बकायदा दुकान सजाई जाती रही है लेकिन अभी तक ऐसा देखने को नहीं मिल रहा है। भेल कर्मचारियों के साथ ही उपनगरी के आसपास कालोनियों में रहने वाले रहवासी भी आम का शौक पूरा करने के लिए आम खरीदने आते है।

यहां पर पेड़ से टूटे ताजे आमों की ब्रिकी होती है। बगीचे में आम के पेड़ों के कारण यहां हरियाली का वातारण बना हुआ है। बगीचे के अंदर बने एक स्टापडेम में भी बारिश के दिनों में पानी संग्रहण होने से आसपास की कालोनियों में जल स्तर कम नहीं होता है। पेड़ों के अंदर छोटा सा पिकनिक स्पॉट भी बना हुआ है।

भेल अधिकारियों गोविंदपुरा जवाहर आम बाग का ठेका करने के लिए विभागीय स्तर पर फाइल चल रही है। जल्द ही इसका टेंडर प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा। वहीं बाजार में आम आना शुरू हो गए लेकिन यहां अब तक ठेके को लेकर कोई निर्णय नहीं हो पाया। बताया जाता है कि भेल नगर प्रशासन विभाग द्वारा अप्रैल माह में ठेका देने के बाद ठेकेदार द्वारा यहां दुकानें लगा दी जाती है, इस वर्ष प्रक्रिया में देरी से आम का मजा रहवासी नहीं उठा रहे है।

गौरतलब है कि जवाहर बाग में करीब एक हजार आम के पेड़ हैं। इनमें 11 प्रजाति के आम हैं। ठेके के लिए रोजाना कई लोग यहां चक्कर तो काट रहे हैं लेकिन मामला उलझने से ये पूरा नहीं हो पा रहा है। भेल टाउनशिप में भी आम के करीब चार सौ पेड़ हैं। बाग के अदंर दशहरी, आम्रपाली, सरौला चौसा, लंगड़ा, हापुस प्रजाति के पेड़ हैं। इसकी दुकान बाग के बाहर ही लगती है।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....