Home फीचर दलित नेता ने बताया SC/ST हिंसा में किसका था योगदान..!

दलित नेता ने बताया SC/ST हिंसा में किसका था योगदान..!

Rate this post

नीमच

दलित नेता और अखिल भारतीय सर्व मेघवंश के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष गोपाल डेनवाल ने कहा कि 2 अप्रैल की हिंसा में सीधे-सीधे उन लोगों का योगदान है जो आरएसएस, विहिप और भाजपा से जुड़े रहे. दलित बेचारा जो खुद निरीह है वो क्या किसी को मारेगा.एमपी के नीमच में बाबा साहब आंबेडकर की 127वीं जयंती पर माल्यार्पण करने पहुंचे डेनवाल ने कहा कि एससी एसटी एक्ट पर केंद्र सरकार लोकसभा और राज्य सभा में प्रस्ताव लाकर सुप्रीम कोर्ट की रूलिंग के खिलाफ क़ानून बनाए.

दलित अत्याचार के खिलाफ मेघ सेना बनाकर सड़कों पर निपटने की बात कहकर चर्चा में आए गोपाल डेनवाल आमतौर पर अपने विवादास्पद बयानों के कारण सुर्खियों में रहते हैं. वे देश के 16 राज्यों में दलितों को लेकर संगठन चलाते हैं. उनके इस संगठन के 12 उप संगठन हैं.नीमच में मीडिया से बातचीत करते हुए गोपाल डेनवाल ने SC/ST एक्ट पर कहा की जब देश के कानून मंत्री कह चुके कि सरकार सुप्रीम कोर्ट की रूलिंग से सहमत नहीं तो उन्हें तुरंत सदन में प्रस्ताव लाकर रूलिंग के खिलाफ क़ानून लाना चाहिए.

जब डेनवाल से पूछा गया कि यदि केंद्र सरकार ऐसा नहीं करती है तो आप क्या करेंगे तो उन्होंने कहा हम अपने वोट के दम पर सरकार बनाएंगे और क़ानून लाएंगे. उन्होंने कहा कि देश में करीब तीस करोड़ दलित हैं जिसमें से नब्बे प्रतिशत मेघवंशीय हैं. राजस्थान की दो सौ विधानसभा सीटों पर दलितों के वोट पच्चीस से सवा लाख तक हैं और कमोबेश यही आंकड़ा एमपी की दो सौ तीस सीटों का है. आने वाले चुनावों में उनके संगठन की क्या भूमिका रहेगी इस पर उन्होंने कहा कि हम किसी भी राजनैतिक दल में शामिल नहीं होंगे जो पार्टी हमारे हितों की बात करेगी उससे हम गठबंधन करेंगे.

दोस्तों के साथ शेयर करे.....