Home फीचर ‘नफरत की राजनीति PM को खुश कर सकती है, बंगालियों को नहीं’...

‘नफरत की राजनीति PM को खुश कर सकती है, बंगालियों को नहीं’ : शुभ्रांशु

0 52 views
Rate this post

दो बार से तृणमूल कांग्रेस के विधायक और बीजेपी नेता मुकुल रॉय के बेटे शुभ्रांशु रॉय ने अपने पिता पर निशाना साधा है. शुभ्रांशु ने अपने पिता पर नफरत की राजनीति करने का आरोप लगाया है. उन्होंने बुधवार को पत्रकारों से कहा कि बंगाल में लोग कभी उन लोगों का समर्थन नहीं करेंगे जो ऐसी राजनीति में शामिल हैं. बंगाल, दीदी (ममता बनर्जी) के नेतृत्व में आगे बढ़ रहा है. इस पंचायत चुनाव में जनता अपना वोट बड़ी संख्या में TMC को देगी.

अपने पिता मुकुल रॉय और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष पर शुभ्रांशु ने कहा, “मुकुल बाबू युवाओं को स्मार्टफोन और एक अन्य बीजेपी नेता दिलीप बाबू लोगों को धमकी दे रहे हैं और कब्रिस्तान की बात कर रहे हैं. बंगाल के लोग ऐसी राजनीतिक विचारधारा को पसंद नहीं करते.” शुभ्रांशु ने कहा, “ऐसी टिप्पणियां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुश कर सकती हैं लेकिन बंगाल की जनता को नहीं. जनता यहां केवल विकास जानती है और वो सिर्फ ममता बनर्जी के नेतृत्व में ही संभव है.”

गौरतलब है कि रविवार को, मुकुल ने राज्य के जलपाईगुड़ी में पहली बार वोट देने वाले युवकों से वादा किया है कि अगर पंचायत चुनाव में बीजेपी का प्रत्याशी जीता तो उन्हें स्मार्टफोन मिलेगा. मुकुल, पूर्व में टीएमसी नेता और ममता बनर्जी के खास लोगों में से एक रह चुके हैं. उन्होंने बीते साल नवंबर में पश्चिम बंगाल की सीएम से कुछ दिक्कतों की वजह से बीजेपी, ज्वाइन कर ली. हालांकि उनका बेटा शुभ्रांशू अभी भी टीएमसी में ही है और उन्होंने पिता के बीजेपी में जाने के फैसले पर कहा था कि यह उनका अपना फैसला है.

दोस्तों के साथ शेयर करे.....