Home राज्य पटना पहुंचते ही लालू के समर्थक हुए बेकाबू, घर पर मची भगदड़

पटना पहुंचते ही लालू के समर्थक हुए बेकाबू, घर पर मची भगदड़

0 34 views
Rate this post

पटना

लालू यादव के बेटे की शादी की खुशियों के बीच गुरुवार रात भगदड़ मच गई. रांची जेल से गुरुवार रात लालू यादव पटना पहुंचे. 10 सर्कुलर स्थित आवास पर लालू के पहुंचते ही वहां पहले से मौजूद समर्थक बेकाबू हो गए. शुरुआती जानकारी के मुताबिक इमसें कई लोगों के जख्मी होने की सूचना है. बताया जा रहा कि लालू के आगमन पर कुछ लोग जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे. समर्थक लालू यादव की एक झलक देखने को बेताब हुए जा रहे थे. लोगों को संभालने में पुलिस के भी पसीने छूटने लगे. समर्थक बेकाबू हो गए और एक दूसरे के ऊपर चढ़ गए. बाद में स्थिति और बिगड़ गई.

गौरतलब है कि करोड़ों रुपये के चारा घोटाला के मामले में सजायाफ्ता राजद प्रमुख लालू प्रसाद अपने बड़े बेटे तेज प्रताप यादव के शादी समारोह में भाग लेने के लिए तीन दिन की पैरोल पर पटना पहुंचे हैं.
चारा घोटाला मामले में सजा सुनाए जाने के बाद से पिछले वर्ष दिसंबर से न्यायिक हिरासत में चल रहे लालू के आज शाम पटना हवाई अड्डे पर पहुंचने पर हजारों की संख्या में उनके समर्थक भी पहुंच गये और उन्होंने फूलमालाओं से उनका स्वागत किया.

पटना के जयप्रकाश नारायण हवाई अड्डे पर शाम करीब 6.40 बजे पहुंचे लालू का स्वागत उनकी बड़ी पुत्री और सांसद मीसा भारती, बड़े पुत्र तेज प्रताप यादव, छोटे पुत्र और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, दामाद शैलेश, राजद के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे और भाई वीरेंद्र सहित पार्टी के कई अन्य विधायकों और नेताओं ने किया. हवाई अड्डे पर पहुंचने पर लालू को भारी सुरक्षा के बीच व्हील चेयर के जरिए गाड़ी पर बिठाकर दस सर्कुलर रोड स्थित उनकी पत्नी और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास के लिए रवाना किया गया.

शिवानंद तिवारी का बड़ा आरोप, हाथ-पैर बांध कर लालू को परोल पर छोड़ा गया
राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने गुरुवार को आरोप लगाया कि उनके पार्टी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को ‘हाथ-पैर बांध कर’ परोल पर छोड़ा गया है. उन्होंने कहा कि परोल की शर्तों की निगरानी के लिए सुरक्षा के नाम पर झारखंड पुलिस की तैनाती ‘बिहार बीजेपी के एक नेता’ के दिमाग की उपज है.शिवानंद ने आरोप लगाया कि परोल पांच दिन की मांगी गयी थी लेकिन तीन दिन की ही दी गई. उन्होंने कहा कि लालू किसी नेता-कार्यकर्त्ता से नहीं मिलेंगे.

इस बीच, बीजेपी के वरिष्ठ नेता और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि चारा घोटाला के चार मामलों में दोषी लालू प्रसाद रेलवे के 2 होटलों के बदले जमीन लेने के मामले में भी आरोपी हैं. इस सबके बावजूद लालू की पार्टी ने उनसे संबंधित हर फैसले को लेकर न्यायपालिका पर संदेह प्रकट किया. सजा कितनी हो, इलाज कहां हो, एम्स में कब तक रखा जाए, परोल कितने दिनों की दी जाए, इन सब पर आरजेडी नेताओं ने गैरजिम्मेदाराना बयान दिए.

दोस्तों के साथ शेयर करे.....