Home फीचर पानी की किल्लत से शिमला का टूरिज्म ठप, आधे रह गए सैलानी

पानी की किल्लत से शिमला का टूरिज्म ठप, आधे रह गए सैलानी

0 20 views
Rate this post

नई दिल्ली

क्वीन ऑफ दी हिल्स के नाम से विख्यात शिमला में पानी की कमी के चलते टूरिस्ट का आना कम हो गया है। बड़ी संख्या में टूरिस्ट गर्मियों में शिमला जाते रहे हैं, लेकिन इस साल माहौल अलग है। ट्रैवल ऑपरेटर्स और पोर्टल्स के अनुसार शिमला के लिए फ्लाइट और यहां के होटलों की बुकिंग पिछले साल की तुलना में 30 पर्सेंट तक कम हुई है। उन्होंने चेतावनी दी कि यह ट्रेंड गर्मी की छुट्टियों में भी जारी रह सकता है। फेडरेशन ऑफ होटल्स एंड रेस्टोरेंट असोसिएशन ऑफ इंडिया के प्रेजिडेंट गिरीश ओबेरॉय ने बताया, ‘शिमला में हर साल पानी की कमी होती है, लेकिन इस बार कई अन्य मुद्दों के साथ यह गंभीर समस्या बन गई है।’

ओबेरॉय ने कहा कि कम बारिश और सरकारी लापरवाही से यह समस्या बढ़ी है। उन्होंने बताया, ‘होटल वाले प्राइवेट वेंडर्स से पानी खरीद रहे थे, लेकिन अब इसमें भी परेशानी हो रही है।’ उन्होंने कहा कि यह समस्या गंभीर होती जा रही है और ज्यादातर होटलों को पर्याप्त पानी नहीं मिल पा रहा है। इससे उनके बिजनस पर बुरा असर हो रहा है। इस वजह से बड़े पैमाने पर होटल बुकिंग कैंसल किए जा रहे हैं।

रिपोर्टर्स के अनुसार, शिमला को 440 लाख लीटर पानी की रोजाना जरूरत होती है, लेकिन पिछले हफ्ते यह घटकर 180 लाख लीटर प्रति दिन रह गई थी। शहर में पानी की कम आपूर्ति के चलते हुए प्रदर्शन पर स्टेट एडमिनिस्ट्रेशन ने हिल स्टेशन के स्कूलों को बंद कर दिया। शहरवासियों ने टूरिस्टों से शिमला न आने का आग्रह किया है। ट्रैवल पोर्टल BigBreaks ने कहा कि वॉटर क्राइसिस के चलते शिमला के लिए फ्लाइट और होटल बुकिंग 30-35 पर्सेंट तक गिर गई है।

सुनसान नजर आता है शिमला का माल रोड
बिग ब्रेक्स के चेयरमैन कपिल गोस्वामी ने कहा, ‘आप माल रोड जाकर स्थिति की गंभीरता को समझ सकते हैं।’ उन्होंने कहा कि शिमला का यह सबसे व्यस्ततम मार्केट प्लेस अब सुनसान नजर आता है। गोस्वामी ने कहा, ‘किफायती डेस्टिनेशन के चलते 2012 से शिमला आने वालों की संख्या बढ़ रही थी, लेकिन इस बार हालात अलग हैं।’ क्लियर ट्रिप के होटल सेगमेंट के वाइस प्रेजिडेंट अंकित रस्तोगी ने बताया कि पिछले साल की तुलना में इस साल शिमला के लिए बुकिंग में इस ट्रैवल पोर्टल ने 17 पर्सेंट की गिरावट देखी। उन्होंने कहा, ‘मई के दूसरे सप्ताह से बुकिंग प्रभावित हो रही है।’

आधी हुई टूरिस्टों की संख्या, सीएम ने दिया आपूर्ति का आदेश
रस्तोगी ने कहा कि शिमला एक लोकप्रिय हिल स्टेशन है, जहां सालभर टूरिस्ट आते हैं। चंडीगढ़ और दिल्ली से वीकेंड में भी लोग शिमला पहुंचते हैं। होटल एंड रेस्टोरेंट असोसिएशन ऑफ नॉर्दर्न इंडिया के प्रेसिडेंट संजय सूद ने भी शिमला में एक होटल और रेस्टोरेंट लिया है। उन्होंने कहा कि इंडस्ट्री एस्टिमेट के हिसाब से यहां आने वाले टूरिस्टों की संख्या आधी हो गई है। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सोमवार को राज्य सरकार के सीनियर अफसरों के साथ पानी की समस्या पर बैठक की और शेड्यूल के हिसाब से पानी आपूर्ति करने का कड़ा निर्देश दिया।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....