Home अंतरराष्ट्रीय भारतीय सिखों पर ‘पाबंदी’ लगा पाक ने दी सफाई

भारतीय सिखों पर ‘पाबंदी’ लगा पाक ने दी सफाई

0 57 views
Rate this post

इस्लामाबाद

पाकिस्तान गए भारत के सिख तीर्थयात्रियों से भारत के राजनयिकों को न मिलने देने के मुद्दे पर पाक ने सफाई देते हुए भारत पर ही आरोप मढ़ दिए हैं। एक बयान जारी करते हुए पाकिस्तान ने कहा कि गुरुद्वारा के कार्यक्रम में भारत के हाई कमिश्नर का कार्यक्रम दोनों पक्षों की सहमति के बाद कैंसल हुआ था।

पाक के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ. मोहम्मद फैसल ने कहा, ‘पाकिस्तान की ओर से भारत के हाई कमिश्नर को 14 अप्रैल 2018 को होने वाले बैसाखी और खालसा जन्मदिन के कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया था, जो गुरुद्वारा पंजा साहिब में होना था।’ पाक विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘भारत और दुनिया के अन्य हिस्सों से आए सिखों ने बाबा गुरुनानक देवजी पर बनी किसी फिल्म का विरोध करते हुए प्रदर्शन किया। इसे देखते हुए पाकिस्तान प्रशासन ने भारत के हाई कमिश्नर को फोन कर दौरा कैंसल करने को कहा।’

पाकिस्तान का कहना है कि उनकी तरफ से कार्यक्रम को कैंसल करने के पीछे किसी अप्रिय घटना से बचना था और यह कैंसलेशन दोनों देशों की सहमति से हुआ था। पिछले हफ्ते 1,800 भारतीय तीर्थयात्री रावलपिंडी के गुरुद्वारा पंजा साहब में बैसाखी मनाने गए हुए हैं। भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस पर सख्त आपत्ति जताई थी।

भारत के विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान की आलोचना करते हुए कहा था, ‘यह एक सामान्य प्रक्रिया है कि भारतीय राजनयिकों को भारत से आने वाले सिख तीर्थयात्रियों के तीर्थ स्थल पर जाने और उनसे संपर्क की छूट होती है। काउंसलर और प्रोटोकॉल से जुड़े दायित्वों के निर्वाह के लिए भारतीय दूतावास के अधिकारियों को यह छूट दी जाती है। इस छूट का उद्देश्य मेडिकल आपातकाल या ऐसी किसी और मुश्किल की स्थिति में एक-दूसरे की मदद करना है।’

भारत की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि पाकिस्तान ने भारतीय राजनयिकों के साथ बेहद खराब व्यवहार किया गया और यह राजदूतों के साथ दुर्व्यवहार की श्रेणी में आता है। पाकिस्तान ने ऐसा करके वियना कन्वेक्शन 1961 का भी उल्लंघन किया है।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....