Home भेल न्यूज़ भेल कारखाने के फेब्रीकेशन विभाग के कर्मचारी की हार्ट अटेक से मौत

भेल कारखाने के फेब्रीकेशन विभाग के कर्मचारी की हार्ट अटेक से मौत

0 567 views
4.3 (85%) 4 votes

सभी ट्रेड यूनियनों की मांग, दोबारा शुरू हो अनुकम्पा नियुक्ति

 भोपाल

भेल के फेब्रिकेशन ब्लॉक में पदस्थ 35 वर्र्षीय कर्मचारी दीपक लांझेवार की गुरुवार को ह्रदय गति रूकने से मौत हो गई। दोपहर को फैक्ट्री में काम के दौरान दीपक के सीने में अचानक दर्द हुआ। इसके बाद वह अपना इलाज कराने के लिए पिपलानी डिस्पेंसरी पहुंचे थे। डिस्पेंसरी से दीपक को कस्तूरबा अस्पताल में इलाज कराने के लिए रेफर किया गया था। अस्पताल में अपने इलाज का पर्चा कटवाकर दीपक डॉक्टर से मिलने के लिए कुर्सी पर बैठे ही थे।

इसी दौरान हार्ट अटैक आने से दीपक की कस्तूरबा अस्पताल में मौत हो गई थी। इसको लेकर महारत्न कंपनी भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड भोपाल के सैकड़ों कर्मचारियों ने शुक्रवार सुबह फेब्रिकेशन ब्लॉक के अंदर जमकर नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों की मांग है कि अनुकंपा नियुक्ति की प्रथा दोबारा शुरु की जाए। प्रदर्शन में इंटक, एबू, बीएमएस , एचएमएस और उत्कृष्ट यूनीयन सहित सभी यूनियन के सदस्य और कर्मचारी मौजूद रहे। प्रदर्शन के उपरांत भेल मैनेजमेंट ने सभी ट्रेड यूनियनों को चर्चा के लिए बुलाया। तब कहीं जाकर मामला शांत हुआ।

भेल यूथ इंटक अध्यक्ष दीपक गुप्ता ने बताया कि मृतक भेल कर्मचारी दीपक लांझेवार, की हुई दुखद मौत के बाद उसके परिवार के पालन पोषण की व्यवस्था होना एक अहम मुद्दा है। श्री गुप्ता का कहना है कि शुक्रवार को भेल के करीब एक हजार कर्मचारियों ने फेब्रिकेशन ब्लॉक में एकत्रित होकर प्रदर्शन किया है। प्रदर्शन में मांग की गई कि मृतक दीपक लांझेवार के परिवार में से किसी एक सदस्य को नौकरी दी जाए। श्री गुप्ता की मानें तो भेल मैनेजमेंट ने कई वर्षों से अनुकंपा नियुक्ति बंद कर रखी है।

अनुकंपा नियुक्ति बंद होने से मृतक भेल कर्मचारी के परिवार वालों को भारी कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। दोबारा अनुकंपा नियुक्ति शुरु करवाने एवं मृतक दीपक लांझेवार के परिवार के किसी एक सदस्य को नौकरी देने के उद्देश्य से कर्मचारियों ने आज प्रदर्शन किया था। प्रदर्शन के बाद ही भेल प्रबंधन ने सभी ट्रेड यूनियनों के प्रतिनिधियों को चर्चा के लिए बुलाया था।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....