Home भेल न्यूज़ भेल की हरिद्वार यूनिट नौ सेना के लिए बनाएगी नेवल गन

भेल की हरिद्वार यूनिट नौ सेना के लिए बनाएगी नेवल गन

0 339 views
Rate this post

हरिद्वार

थर्मल पावर सेक्टर के साथ ही देश-विदेश में बिजली के बड़े-बड़े उपकरणों की आपूर्ति करने वाली महारत्न कंपनी भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) की हरिद्वारा इकाई द्वारा भारतीय नौ सेना के लिए नेवल गन बनाने के लिए कार्य करने जा रही है। इस यूनिट में बड़ी सं या में रक्षा क्षेत्र के लिए उपकरण तैयार किए जाएंगे। बिजली के बाद रक्षा क्षेत्र में भेल अपने कदम आगे बढ़ा रहा है। यूनिट के मुखिया संजय गुलाटी के नेतृत्व में इस कार्य को पूरा कराया जाएगा।

अलग-अलग समय पर नेवल गन का निर्माण कर उनकी आपूर्ति भारत सरकार के रक्षा विभाग को की जाएगी। ोल को इस आर्डर के लिए करीब 11 सौ करोड़ रूपए का काम मिला है। बताया जाता है कि भेल के मुनाफे के लिए परंपरागत कामों के अतिरिक्त लीक से हटकर भी कार्य करने की दिशा में कंपनी द्वारा कदम बढ़ाए जा रहे है। रक्षा क्षेत्र में मिले बड़े कार्य के बाद कंपनी कुछ अन्य क्षेत्र की योजनाओं पर भी विमर्श कर रही है।

जानकारी के अनुसार भेल की हरिद्वार इकाई को भारतीय नौसेना के लिए 30 एमएम की 118 नेवल गन बनाने का 11 अरब से अधिक का आर्डर मिला है। यह भेल हरिद्वार के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। भेल नौसेना के लिए पहले से 76 एमएम की नेवल गन बना रहा है और अब तक ऐसी 36 नेवल गन की नौसेना को आपूर्ति भी कर चुका है। हरिद्वार इकाई के मुखिया संजय गुलाटी भेल भोपाल में भी महाप्रबंधक के पद कार्य करते हुए प्रमोट होने के बाद हरिद्वार यूनिट के ईडी बने। उनके कार्यकाल में हरिद्वार इकाई द्वारा भारतीय नौ सेना के लिए इस वर्ष से रक्षा सुरक्षा उपकरणों की आपूर्ति का कार्य आरंभ किया जाएगा। 30 एमएम की 118 नेवल गन को अलग-अलग चरणों में बनाया जाएगा।

भेल अलग-अलग क्षेत्रों के लिए सौ से अधिक उपकरण भी बनाती है जिसमें भेल कैप्टिव विद्युत संयंत्र, ट्रांसमिशन, परिवहन, अक्षय ऊर्जा, जल शोधन प्रणालियों ,प्री-ट्रीटमेंट प्लांट, पीटी और समुद्र के पानी से रिवर्स ऑस्मोसिस ,एसडब्ल्यूआरओ प्लांट, औद्योगिक उत्पाद ,विद्युत एवं यांत्रिक आदि में इस्तेमाल होने वाली प्रौद्योगिकी संग उपकरण को भी बनाती है।

इसी के साथ देश की रक्षा के लिए महत्वपूर्ण सुपर रेपिड गन माउंट, नौसेना के जहाजों के लिए इंटिग्रेटिड प्लेटफार्म, मैनेजमेंट सिस्टम, थलसेना के टी-72 टैंक के लिए टरेट कास्टिंग आदि उपकरणों का भी निर्माण करती है। विश्व स्तर पर कड़ी प्रतिस्पर्धा मिल रही है और मुकाबला करने में भेल सक्षम है और वह रक्षा के क्षेत्र में बड़े स्तर पर कार्य करने जा रही है।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....