Home भोपाल/ म.प्र मध्य प्रदेश: गोरक्षा समिति अध्यक्ष स्वामी अखिलेश्वरानंद को कैबिनेट मंत्री का दर्जा

मध्य प्रदेश: गोरक्षा समिति अध्यक्ष स्वामी अखिलेश्वरानंद को कैबिनेट मंत्री का दर्जा

0 20 views
Rate this post

भोपाल

कुछ समय पहले मध्य प्रदेश में साधु-संतों को राज्यमंत्री का दर्जा दिया गया था। शिवराज सरकार का यह फैसला काफी चर्चित रहा था। अब इनमें से स्वामी अखिलेश्वरानंद को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है। बताया गया है कि अखिलेश्वर नर्मदा संरक्षण पैनल में साथी साधुओं से नाखुश थे। बता दें कि अखिलेश्वर अभी मध्य प्रदेश गोरक्षा बोर्ड के अध्यक्ष हैं।

गौरतलब है कि अप्रैल में कुछ साधुओं को राज्यमंत्री का दर्जा दिया गया था। उन्हीं में से कंप्यूटर बाबा और योगेंद्र महंत को नर्मदा संरक्षण के लिए बने पैनल में शामिल किया गया था। इस बात से अखिलेश्वरानंद नाराज थे। उनके मुताबिक, दोनों साधु विवादित थे। बताया गया है कि उनको 11 जून को कैबिनेट मंत्री का पद दिया गया है।

उन्होंने कहा है कि पद दिए जाने से कुछ बदलेगा नहीं। यह आदेश पहले दिए गए आदेश को ठीक करके दिया गया है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि गोरक्षा बोर्ड का चेयरमैन होने के नाते उन्हें राज्यमंत्री नहीं, कैबिनेट मंत्री का दर्जा मिला हुआ था।

बता दें कि गोरक्षा बोर्ड के अध्यक्ष रहते हुए उन्होंने कहा था कि गाय के कारण ही तीसरा विश्व युद्ध होगा। उन्होंने कहा था, ‘मिथकों में भी इसके संदर्भ हैं और 1857 में आजादी की पहली लड़ाई भी गाय पर ही शुरू हुई थी।’ इस बयान पर काफी विवाद हुआ था। स्वामी अखिलेश्वरानंद पहले ऐसे धार्मिक व्यक्ति हैं, जिन्हें बोर्ड में चेयरमैन का पद मिला है।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....