Home फीचर मेनका का विवादित बयान, ‘क्यों बोते हो गन्ना, देश को नहीं चाहिए...

मेनका का विवादित बयान, ‘क्यों बोते हो गन्ना, देश को नहीं चाहिए चीनी’

0 32 views
Rate this post

पीलीभीत

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले की सांसद और केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी ने गन्ना किसानों को गन्ना न बोने की सलाह दे डाली। यह सुनकर सभी लोग हैरान रह गए। मेनका के मुंह से किसानों के लिए निकली अजीब सलाह ने अब राजनीतिक रूप अख्तियार कर लिया है। इसका एक विडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। विडियो सामने आने के बाद विपक्ष ने मेनका पर निशाना साधा है। वहीं मेनका गांधी ने इस बयान पर अब अपनी सफाई पेश की है।

दरअसल, पीलीभीत जिले के पूरनपुर क्षेत्र में मेनका गांधी एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने गांधी सभागार पहुंची थीं। वहां पूरनपुर क्षेत्र के कुछ गन्ना किसान अपनी समस्याएं लेकर पहुंचे। किसानों ने गन्ना तौल, भुगतान व चीनी मिलें बंद हो जाने की समस्या से मेनका को अवगत कराया। इसपर अचानक मेनका नाराजगी भरे लहजे में बोलीं- ‘क्यों बोते हो गन्ना, देश को नहीं है चीनी की जरूरत। हजार बार तुम लोगों से कहा है कि गन्ना मत बोया करो।’ मेनका की यह बात सुनकर किसान और परिसर में मौजूद सभी लोग हैरान रह गए। गन्ना किसानों ने मेनका के ऐसे बोल पर नाराजगी जताते हुए कहा कि अगर हम गन्ना नहीं पैदा करेंगे तो अपने बच्चे कैसे पालेंगे।

बयान की निंदा
पीलीभीत जिले में मेनका के इस बयान पर जनता और विपक्ष ने निशाना साधते हुए इसकी निंदा की है। मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने कहा कि प्रदेश के गन्ना किसानों की स्थिति बेहद दयनीय है। गन्ना क्रय केन्द्र बंद हो रहे हैं और किसानों को गन्ने का भुगतान नहीं मिल रहा है, वहीं चीनी मिलें भी गन्ना नहीं ले रही हैं। ऐसे में किसान अपनी समस्याएं सामने रखेंगे नहीं तो क्या करेंगे।

मेनका ने विडियो जारी कर दी सफाई
गन्ना किसानों पर दिए बयान पर आलोचनाओं से घिरी मेनका गांधी ने एक विडियो के माध्यम से अपनी सफाई दी है। उन्होंने कहा कि बयान को गलत संदर्भ में पेश किया गया है। मेनका ने कहा, ‘मैंने हमेशा किसानों के हित में ही काम किया है और सभी को हरसंभव मदद मुहैया कराई है। मैंने किसानों को गन्ने के अलावा अन्य फसलों पर भी ध्यान देने को कहा ताकि किसान अधिक मुनाफा कमा सकें।’

दोस्तों के साथ शेयर करे.....