Home कारपोरेट मोदी की सिरदर्दी, रेकॉर्ड स्तर पर पेट्रोल-डीजल

मोदी की सिरदर्दी, रेकॉर्ड स्तर पर पेट्रोल-डीजल

0 66 views
Rate this post

नई दिल्ली

पेट्रोल और डीजल दोनों के रेट बढ़ने का सिलसिला लगातार जारी है। अब दोनों ही नए रेकॉर्ड स्तर पर पहुंच गए। रविवार को पेट्रोल की कीमत 74.40 रुपये लीटर हो गई जो भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार आने के बाद से अबतक सबसे ज्यादा कीमत है। वहीं डीजल 65.65 रुपये लीटर पहुंच गया है।

बता दें कि पेट्रोल कंपनियां अब रोजाना पेट्रोल-डीजल की कीमतों का निर्धारण करती हैं। रविवार को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में दिल्ली में 19 पैसे का इजाफा किया गया है। इसकी वजह पूछने पर तेल कंपनियों के अधिकारियों ने अंतरराष्ट्रीय मार्केट में रेट बढ़ने की बात कही। इससे पहले शनिवार को पेट्रोल के रेट 13 पैसे और डीजल 15 पैसे बढ़े थे।

पेट्रोल फिलहाल 74.40 रुपये लीटर पहुंच गया है जो 14 सितंबर 2013 के बाद से अबतक की सबसे ज्यादा कीमत है। तब रेट 76.06 रुपये लीटर हो गया था। वहीं अब डीजल का रेट 65.65 रुपये लीटर है जो अबतक सबसे ज्यादा है। बजट आने से पहले पेट्रोलियम मंत्रालय ने पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी कम करने की मांग की थी, लेकिन फरवरी में बजट पेश करने के दौरान वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ऐसा कोई ऐलान नहीं किया।

2014-2016 के बीच वित्त मंत्री द्वार पूरे 9 बार एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई जा चुकी है, वहीं टैक्स में कटौती सिर्फ एक बार अक्टूबर में की गई थी और वह भी सिर्फ दो रुपये की। बता दें कि साउथ एशियन देशों में भारत में पेट्रोल डीजल का रीटेल प्राइस सबसे ज्यादा है।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....