Home फीचर योगी के मंत्री बोले, ‘पिछड़ी जाति का होने की वजह से नहीं...

योगी के मंत्री बोले, ‘पिछड़ी जाति का होने की वजह से नहीं मिलता सम्मान

0 19 views
Rate this post

बहराइच

यूपी के कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्‍यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने एक बार फिर अपनी ही सरकार और प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ हमला बोला है। राजभर ने योगी सरकार पर जातिवाद का आरोप लगाते हुए कहा कि नीची जाति का होने के कारण उन्हें अधिकारी भी महत्व नहीं दे रहे हैं। अपने प्रोटोकॉल में किसी अधिकारी के नहीं होने पर भड़के राजभर ने आपत्तिजनक बयान देते हुए कहा कि अगर वह ऊंची जाति के होते तो प्रशासनिक अधिकारी उनके भी आगे-पीछे दुम हिलाते।

दरअसल, बहराइच दौरे पर पहुंचे कैबिनेट मंत्री के प्रोटोकॉल में गुरुवार को कोई भी अधिकारी नहीं दिखा। इससे राजभर बेहद नाराज दिखे। अपनी ही सरकार के खिलाफ बागी तेवर अपनाए राजभर ने अधिकारियों के नहीं पहुंचने पर एक बार फिर योगी सरकार पर हमला बोला। राजभर ने कहा, ‘योगी सरकार में जातिवाद हावी है। सभी बड़े नेताओं के रिश्तेदार प्रदेश में ऊंचे पदों पर तैनात हैं। मैं ऊंची जाति का होता तो मेरे भी आगे-पीछे प्रशासनिक अधिकारी दुम हिलाते। लेकिन मैं नीची जाति का हूं इसलिए मुझे गार्ड ऑफ ऑनर तक नहीं मिला।’

जाति देखकर टिकट देने का आरोप
बता दें कि एक दिन पहले बुधवार को ही राजभर ने बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए पार्टी में जातिवाद और परिवारवाद हावी होने का आरोप लगाया था। राजभर ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा था कि बीजेपी भी जाति देखकर टिकट देती है और मंत्री बनाती है। साथ ही राजभर ने बीजेपी के बड़े नेताओं के रिश्‍तेदारों को माध्‍यमिक शिक्षा चयन बोर्ड में शामिल किए जाने का आरोप भी लगाया था।

योगी सरकार पर साधते रहे हैं निशाना
इससे पहले भी राजभर योगी सरकार पर निशाना साधते रहे हैं। योगी पर आरोप लगाते हुए कैबिनेट मंत्री ने कहा था, ‘पांच-छह बड़े अधिकारी सीएम को जो समझा रहे हैं, वह उसी को मान रहे हैं। पर, जब कोई जनप्रतिनिधि जनता का दर्द बताता है तो वह सुन नहीं रहे हैं।’ वहीं शराबबंदी के मुद्दे पर राजभर ने कहा था, ‘मैं सदन में अब तक 16 बार शराबबंदी को लेकर आवाज उठा चुका हूं मगर योगी सरकार नहीं सुनती। सूबे में शराबबंदी की मांग को अनसुना करने के कारण मुख्यमंत्री से वैचारिक लड़ाई का ऐलान करता हूं।’

दोस्तों के साथ शेयर करे.....