Home कारपोरेट रद्द हो चुके भारतीय पासपोर्ट पर इधर-उधर भाग रहा नीरव मोदी?

रद्द हो चुके भारतीय पासपोर्ट पर इधर-उधर भाग रहा नीरव मोदी?

0 31 views
Rate this post

लंदन

भगोड़े अरबपति हीरा कारोबारी नीरव मोदी की लंदन में शरण मांगने की खबरें आने के तुरंत बाद मंगलवार या बुधवार को उसके ब्रसेल्स भागने की खबरें आ रही हैं। भारत के सबसे बड़े पीएनबी बैंकिंग घोटाले में वांछित नीरव मोदी के ब्रिटेन के अंदर और बाहर खुलेआम घूमने की खबर है। रिपोर्ट्स के मुताबिक नीरव ब्रसेल्स भारत के पासपोर्ट पर नहीं, बल्कि सिंगापुर के पासपोर्ट पर भागा है। सूत्रों के मुताबिक, नीरव मोदी अपने रद्द हो चुके भारतीय पासपोर्ट पर ही सफर कर रहा है लेकिन किसी देश को इसकी जानकारी ही नहीं है और इसी वजह से उसे बिना रोक-टोक एंट्री मिल रही है।

सोमवार को, CBI ने इंटरपोल से नीरव मोदी और उसके भाई निशाल के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की मांग की थी। नीरव का भाई बेल्जियम का नागरिक है। मंगलवार को मुंबई के स्पेशल कोर्ट ने नीरव मोदी और उसके परिवार के सदस्यों के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया था।

सूत्रों ने बताया, ‘इंटरपोल ने भारत सरकार को सूचित किया है कि नीरव मोदी के पासपोर्ट से 31 मार्च के बाद से कोई गतिविधि नहीं हुई है इसलिए वह निश्चित तौर पर भारतीय पासपोर्ट का इस्तेमाल नहीं कर रहा है। अगर वह सिंगापुर के पासपोर्ट पर सफर कर रहा है तो, भारत सरकार कुछ भी नहीं कर सकती क्योंकि गैर-जमानती वारंट मोदी के भारतीय पासपोर्ट के खिलाफ है। भारत को सिंगापुर सरकार पर दबाव बनाना पड़ेगा।’

लंदन में भारतीय उच्चायोग के सूत्रों ने हमारे सहयोगी TOI को बताया कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है कि क्या नीरव भारतीय पासपोर्ट का इस्तेमाल कर रहा था। जब उनसे पूछा गया कि नीरव ने सिंगापुर का पासपोर्ट कैसे पाया होगा तो उन्होंने जवाब दिया, ‘पैसे से कुछ भी खरीदा जा सकता है।’

सूत्र ने आगे बताया, ‘हम नहीं बता सकते कि वह कौन सा पासपोर्ट इस्तेमाल कर रहा है। सिर्फ उसे यूके में एंट्री करने देने वाले यूके इमिग्रेशन को ही पता है कि उसके पास कौन सा पासपोर्ट है। अगर कोई भारत आता है, तब हमें पता होता है कि वे किस पासपोर्ट पर आए। इसलिए सिर्फ यूके के गृह मंत्रालय के पास ही जवाब होंगे।’

सूत्र के मुताबिक, ‘हमने इस बारे में अभी तक कुछ नहीं सुना कि नीरव मोदी सिंगापुर के पासपोर्ट पर सफर कर रहा है। हां, यह हो सकता है कि उसने फर्जी भारतीय पासपोर्ट बनवा लिया हो, जो कि काफी आसानी से पाया जा सकता है, या फिर वह अपने सस्पेंडेड पासपोर्ट पर ही सफर कर रहा है और संबंधित देश उसे प्रवेश करने दे रहे हैं क्योंकि शायद उन्हें पासपोर्ट के रद्द होने की जानकारी ही नहीं है।’

लेकिन सूत्रों ने यह भी बताया कि नीरव किसी भी पासपोर्ट का इस्तेमाल क्यों न कर रहा हो, भारत सरकार उसके खिलाफ इंटरपोल रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने के लिए कह सकती है। यूके के गृह मंत्रालय ने TOI की ओर से पूछे गए किसी भी सवाल का जवाब नहीं दिया है।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....