Home फीचर राजस्थान सिविल सर्विस परीक्षा में बदलाव, आएंगे भगवद्गीता से सवाल

राजस्थान सिविल सर्विस परीक्षा में बदलाव, आएंगे भगवद्गीता से सवाल

0 32 views
Rate this post

जयपुर

अगर आप राजस्थान सिविल सर्विस की तैयारी कर रहे हैं तो भगवदगीता को पढ़ना भी शुरू कर दीजिए। राजस्थान लोक सेवा आयोग (RPSC) ने 2018 की प्रशासनिक परीक्षा के लिए पाठ्यक्रम में थोड़ा बदलाव करते हुए सामान्य ज्ञान और जनरल स्टडी के लिए ‘नीति शास्त्र’ नाम से नई यूनिट जोड़ दिया है। इस यूनिट में भगवद्गीता और महात्मा गांधी के जीवन से प्रबंधन शिक्षा शामिल रहेगी।

बदले हुए पाठ्यक्रम में नैशनल आइकन, समाज सुधारक और प्रशासनिक अधिकारियों के जीवन चित्र भी शामिल रहेंगे। राजस्थान प्रशासनिक सेवा 2018 के बदले हुए पाठ्यक्रम में दूसरे पेपर में जीके और जनलर स्टडीज़ के ‘प्रशासन और प्रबंधन में भगवद्गीता का रोल’ नाम से भी एक यूनिट रहेगी। इस पेपर में कुल 3 यूनिट रहेंगे। भगवद्गीता में कुरुक्षेत्र की लड़ाई के दौरान भगवान कृष्ण और अर्जुन के बीच हुई बातचीत के 18 अध्याय हैं, परीक्षा में सवाल यहीं से पूछे जाएंगे।

बदलाव का मकसद
राजस्थान लोक सेवा आयोग के एक जूनियर अधिकारी ने बताया, ‘इस बदलाव का मकसद स्टूडेंट्स को किताब में आए प्रशासनिक और मैनेजमेंट शिक्षा से अवगत कराना है। सभी अध्यायों का ज्ञान रखने वाले अभ्यर्थी 100 प्रतिशत नंबर पा जाएंगे। इससे उन्हें बतौर प्रशासनिक अधिकारी निर्णय लेने में आसानी रहेगी। RPSC को सिलेबल में बदलाव का विचार राजस्थान यूनिवर्सिटी से मिला, जिसने कॉमर्स और मैनेजमेंट कॉलेज में भगवद्गीता, रामायण और अर्थशास्त्र से जुड़ी मैनेजमेंट तकनीकों को पाठ्यक्रम में शामिल किया है।’

इस संबंध में प्रशासकीय अधिकारियों ने अपनी जुबान बंद ही रखी। हमारे सहयोगी टाइम्स ऑफ इंडिया का RPSC चेयरपर्सन आर. एस. गर्ग और डेप्युटी सेक्रटरी दीप्ति शर्मा से बात करने का प्रयास असफल रहा।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....