Home ग्लैमर लंदन शिफ्ट होने की खबरों पर यह बोलीं सोनम

लंदन शिफ्ट होने की खबरों पर यह बोलीं सोनम

0 32 views
Rate this post

कुछ दिनों से ऐसी खबरें आ रहीं थीं कि आनंद आहूजा से शादी करने के बाद सोनम कपूर अब लंदन शिफ्ट होने की प्लानिंग कर रही हैं और इस सिलसिले में उन्होंने लंदन में प्रॉपर्टी भी देखी है। जहां लोग सोनम की शादी के बाद से ही इस बात के कयास लगाए रहे थे कि वह कहां रहेंगी, वहीं अब खुद सोनम ने सारा मामला क्लियर कर दिया है।

एक लीडिंग न्यूज वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में सोनम ने कहा है कि वह कहीं नहीं जा रही हैं और यहीं रहेंगी। साथ ही उन्होंने कहा कि वह पिछले 2 साल से मुंबई और लंदन में रह रही हैं, लेकिन किसी को पता नहीं चला। पिछले कई महीन वह लंदन में ही रही हैं और फिर मुंबई आ गईं।

सोनम के मुताबिक, उनका यही रूटीन रहने वाला है और वह कहीं लंदन या दिल्ली शिफ्ट नहीं हो रही हैं। बता दें कि सोनम ने 8 मई को बिजनसमैन आनंद आहूजा से मुंबई में शादी की और शादी के तुरंत बाद अपना नाम बदलकर सोनम कपूर आहूजा कर लिया। इस पर लोगों ने सोनम को खूब ट्रोल किया, लेकिन सोनम ने इसका भी करारा जवाब दिया।

शादी के बाद नाम बदलने पर सोनम कपूर की आलोचना, ये दिया जवाब
ज्यादातर लड़कियों की तरह सोनम कपूर ने भी शादी के बाद अपना नाम बदल लिया. उन्होंने अपने नाम के साथ अपने पति का नाम जोड़कर लिखा- सोनम कपूर आहूजा/ सोनम के. आहूजा. इंस्टाग्राम पर जैसे ही सोनम का ये नया नाम दिखा, कुछ लोगों ने इसे लेकर एक्ट्रेस की आलोचना करना शुरू कर दिया. उनके फेमिनिज्म पर भी सवाल उठाए जाने लगे. कहा गया कि सोनम कैसी फेमिनिस्ट हैं.

जानी-मानी लेखिका और फेमिनिस्ट तसलीमा नसरीन ने भी इसे लेकर ट्वीट किया, उन्होंने लिखा- वे बेशक मॉर्डन कपड़े पहनें, मॉर्डन डायलॉग बोलें लेकिन असल जिंदगी में फिल्म इंडस्ट्री के ज्यादातर लोग मॉर्डन नहीं है. वे अंधविश्वास और पितृसत्तामक समाज में यकीन करते हैं.

अब इस सब पर कमेंट करते हुए सोनम ने कहा है कि ये उनका निजी चयन है. किसी को भी इस पर कुछ कहने का हक नहीं है. इंडियन एक्सप्रेस से हुई बातचीत में सोनम ने कहा – ‘मैंने हमेशा कहा है कि मैं एक फेमिनिस्ट हूं. मेरे पास विकल्प है कि मैं चाहूं तो मैं अपना नाम बदल सकती हूं. आनंद ने भी अपना नाम बदला है, लेकिन किसी ने इसके बारे में किसी ने नहीं लिखा. आपको आनंद से भी पूछऩा चाहिए. उन्होंने भी अपना नाम बदल लिया है.’

इसके अलावा सोनम का ये भी कहना है कि फेमिनिज्म का पूरा कॉन्सेप्ट ही समान अधिकारों पर आधारित है. इसके साथ ही फेमिनिज्म आपको ये छूट देता है कि आप अपनी पसंद का चयन कर सकें. मैं आनंद के परिवार का हिस्सा बनना चाहती हूं और वो भी मेरे परिवार का हिस्सा हैं. ये एक बेहद पेचीदा बहस है, लेकिन ये मेरा फैसला है. कोई मुझे मेरे फैसले को लेकर जज करे, ये फेमिनिज्म नहीं है.

दोस्तों के साथ शेयर करे.....