Home कारपोरेट वित्तीय संकट? छोटे अंबानी ने बदला हेडक्वॉर्टर

वित्तीय संकट? छोटे अंबानी ने बदला हेडक्वॉर्टर

0 26 views
Rate this post

मुंबई

वित्तीय संकट का सामना कर रहे अनिल अंबानी की अगुआई वाले रिलायंस ग्रुप ने बलार्ड एस्टेट स्थित अपने कॉरपोरेट हेडक्वॉर्टर ‘रिलायंस सेंटर’ को खाली कर दिया है। कर्ज के बोझ को कम करने के लिए अपनी संपत्तियों को बेच रहे ग्रुप ने अपने हेडक्वॉर्टर को सांताक्रूज स्थित दफ्तर से चलाने का फैसला किया है।रिलायंस ग्रुप पर करीब 60,000 करोड़ रुपये का कर्ज है। इस साल मार्च में ग्रुप ने मुंबई में अपने पावर डिस्ट्रीब्यूशन बिजनस को अडानी ग्रुप को 18,800 करोड़ रुपये में बेच दिया।

ग्रुप ने अपने फ्लैगशिप रिलायंस कम्यूनिकेशन के 51 प्रतिशत स्टेक को अपने कर्जदाताओं को देने की पेशकश की है। इसके अलावा कंपनी बचे हुए 27,000 करोड़ रुपये कर्ज को चुकाने के लिए अपने स्पेक्ट्रम को बेचकर 17,000 करोड़ रुपये जुटाएगी। ग्रुप ने देशभर में अपने रियल एस्टेट संपत्तियों को 10,000 करोड़ रुपये में बेचने जा रहा है।

ऊर्जा के क्षेत्र में काम कर रही ग्रुप की कंपनी रिलायंस पावर भी संघर्ष कर रही है। इसका मार्केट वैल्यू 11,400 करोड़ रुपये है जो 2008 में आईपीओ के जरिए जुटाए गए 11,700 करोड़ रुपये से भी 300 करोड़ रुपये कम है।ग्रुप के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पहचान जाहिर न करने की शर्त पर बताया, ‘व्यावहारिक कारणों से ग्रुप के कॉरपोरेट ऑफिस को सांताक्रूज शिफ्ट कर दिया गया है। अनिल अंबानी समेत समूचा टॉप मैनेजमेंट वहीं बैठेगा। इसलिए दक्षिण मुंबई के दफ्तर में बैठने का कोई मतलब नहीं था।’ पिछले कुछ सालों से बलार्ड ऐस्टेट ऑफिस का इस्तेमाल बोर्ड मीटिंग्स और प्रेस कॉन्फ्रेंस जैसे अहम मौकों पर ही किया जा रहा था।

ग्रुप रिलायंस सेंटर के 6,000 वर्गफीट में फैले 3 फ्लोर्स पर अपना नियंत्रण जारी रखेगा। हालांकि ग्रुप के अधिकारियों ने यह बताने से इनकार किया कि ग्रुप इस जगह के इस्तेमाल के लिए क्या योजना बना रहा है। एक रियल एस्टेट कंसल्टेंसी फर्म ने बताया कि रिलायंस इस स्पेस से हर महीने 10 लाख रुपये का किराया पा सकता है।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....