Home खेल विराट कोई मशीन नहीं हैं कि उनमें रॉकेट फ्यूल भर दें: कोच...

विराट कोई मशीन नहीं हैं कि उनमें रॉकेट फ्यूल भर दें: कोच रवि शास्त्री

0 19 views
Rate this post

मुंबई

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने टीम इंडिया के कैप्टन विराट कोहली का समर्थन करते हुए कहा है कि वह कोई मशीन नहीं हैं, एक इंसान हैं। स्टार बल्लेबाज विराट कोहली गर्दन में चोट के कारण इंग्लिश काउंटी क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने उनके काउंटी क्रिकेट नहीं खेलने की जानकारी दी।

कोच रवि शास्त्री ने कहा, ‘विराट को काउंटी क्रिकेट से हटने का फैसला चोट के कारण लेना पड़ा। वह कोई मशीन नहीं हैं, एक इंसान ही हैं। यह कोई ऐसा केस नहीं है कि उनमें रॉकेट फ्यूल भर दें और पार्क में ले जाएं। किसी टॉप डॉग के साथ भी ऐसा नहीं किया जा सकता कि उसमें रॉकेट फ्यूल भर दिया जाए।’

सरे को रेवेन्यू में नुकसान
सरे क्रिकेट क्लब ने जब बयान जारी कर बताया कि विराट इस सीजन में उनके क्लब का प्रतिनिधित्व नहीं कर सकेंगे, तो क्लब के इस आधिकारिक पेज पर एक यूजर ने कॉमेंट पोस्ट किया- ‘उन्हें रिफंड मिलना चाहिए जिन्होंने विराट कोहली को खेलते देखने के लिए टिकट खरीदे।’ यह तो साफ है कि विराट के काउंटी क्रिकेट नहीं खेलने से सरे को रेवेन्यू में नुकसान होगा।

सरे डायरेक्टर ने जताया दुख
सरे डायरेक्टर ऑफ क्रिकेट एलेक स्टीवर्ट ने कहा, ‘यह बेहद दुखद है कि विराट जून में सरे क्रिकेट क्लब का प्रतिनिधित्व नहीं कर सकेंगे लेकिन हम समझ सकते हैं कि चोट लग जाती हैं और हमें बीसीसीआई की मेडिकल टीम के फैसले का सम्मान करना चाहिए कि विराट के चोटिल होने का कारण उन्हें क्लब क्रिकेट से हटने के लिए कहा।’

पहले स्लिप डिस्क की आईं खबरें
कोहली बुधवार को जांच के लिए मुंबई के एक अस्पताल गए थे जिसके बाद खबरें आई थीं कि उन्हें स्लिप डिस्क हो गया है और वह इंग्लैंड दौरे से पहले सरे के लिए काउंटी क्रिकेट नहीं खेल सकेंगे। बाद में बोर्ड के एक अधिकारी ने साफ किया कि विराट को स्लिप डिस्क नहीं है। यह मामला नेक स्प्रेन (गर्दन में मोच) का है।

बेंगलुरु में फिटनेस टेस्ट
बोर्ड की ओर से कहा गया कि विराट के काउंटी क्रिकेट नहीं खेलने का फैसला मेडिकल टीम द्वारा चेकअप के बाद किया गया। टीम इंडिया के कप्तान को बीसीसीआई मेडिकल टीम की देखरेख में अब रीहबिलिटेशन से गुजरना होगा। उन पर बीसीसीआई की मेडिकल टीम नजर रखेगी। कोहली जल्द ही प्रशिक्षण शुरू करेंगे और 15 जून को बेंगलुरु के एनसीए में उनका फिटनेस टेस्ट होगा। मेडिकल टीम को उम्मीद है कि वह आयरलैंड और इंग्लैंड दौरे से पहले फिट हो जाएंगे।

कब लगी चोट?
बीसीसीआई के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी ने एक बयान में बताया, ‘सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ बेंगलुरु के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में 17 मई 2018 को हुए आईपीएल के 51वें मैच के दौरान विराट कोहली को गर्दन में चोट लगी थी।’ बताया गया है कि उसके बाद दर्द कम हो गया था, लेकिन वह एहतियात के तौर पर चेकअप के लिए गए थे।

थकान को कम करने कोशिश
इससे पहले क्रिकेट बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा था कि हां, विराट के साथ थकान का मसला है, लेकिन यह वर्क मैनेजमेंट की बात है। उन्हें स्लिप डिस्क नहीं है। फिलहाल हम लोग उनके वर्कलोड की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। अधिकारी ने कहा- हम एक योजना तैयार कर रहे हैं, जिससे उनके काउंटी कार्यकाल को कम किया जा सके।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....