Home फीचर वॉलमार्ट-फ्लिपकार्ट के बीच डील से नाराज़ RSS का यह संगठन

वॉलमार्ट-फ्लिपकार्ट के बीच डील से नाराज़ RSS का यह संगठन

Rate this post

नई दिल्ली

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े संगठन स्वदेशी जागरण मंच ने फ्लिपकार्ट और वॉलमार्ट की डील पर सवाल उठाया है। स्वदेशी जागरण मंच ने इस डील को गैरकानूनी, अनैतिक और देशहित के खिलाफ बताया है। मंच ने सवाल उठाया कि आखिर बाजार कैसे बिक सकता है? स्वदेशी जागरण मंच ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर इसमें हस्तक्षेप करने की मांग की है।

अमेरिकी रीटेल चेन वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट का 77% हिस्सा खरीदने का ऐलान किया है। स्वदेशी जागरण मंच के को-कनविनर अश्विनी महाजन ने एनबीटी से बात करते हुए कहा कि यह डील मेक इन इंडिया के भी खिलाफ है और हमने इसमें पीएम से हस्तक्षेप करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि यह डील गैरकानूनी है क्योंकि ई-कॉमर्स में एफडीआई की इजाजत नहीं है। वॉलमार्ट इसमें चोर दरवाजे से आ रही है और कह रही है कि फ्लिपकार्ट तो महज एक प्लैटफॉर्म है। महाजन ने सवाल उठाया कि अगर यह महज एक प्लैटफॉर्म है तो यह एक तरीके से चांदनी चौक या कनॉट प्लेस जैसा बाजार हुआ और बाजार कैसे बिक सकता है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यह डील अनैतिक भी है क्योंकि इसमें टैक्स की चोरी हो रही है। उन्होंने कहा कि यह डील सिंगापुर में हुई, बेंगलुरु में अनाउंस हो रही है और दिल्ली में अप्रूवल लिया जा रहा है। इससे भारत में एक भी पैसा नहीं आएगा। स्वदेशी जागरण मंच नेता ने कहा कि जब शेयर ट्रांसफर होंगे तो पैसा वहीं जाएगा और हम अपना मार्केट खो रहे हैं। अश्विनी महाजन ने कहा कि मार्केट किसी भी देश की राष्ट्रीय संपत्ति होती है और यहां तो मार्केट ही बेच रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी देश का मार्केट उसके अपने लोगों के हाथ में होना चाहिए। महाजन ने कहा कि फ्लिपकार्ट यह कहता रहा है कि वह बस एक स्टार्टअप है और अब वह विदेशी को बेचकर निकल जाएगा।

उन्होंने कहा कि दुनिया भर में वॉलमार्ट सातवीं सबसे बड़ी कंपनी है जो चीन से एक्सपोर्ट करती है। उन्होंने आशंका जताई कि अब ये हमारे देश में सारा चीन का माल बेचेंगे। इससे मेक इन इंडिया का क्या होगा। पीएम को लिखे पत्र में कहा गया है कि स्वदेशी जागरण मंच, संघ, बीजेपी सबका यह मानना है कि मल्टीब्रैंड रिटेल में एफडीआई न सिर्फ भारतीय उद्योगों को मारेगी बल्कि यह किसानों के हितों के भी खिलाफ है और मार्केट में जॉब के मौके कम करेगी।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....