Home राजनीति सरकार ने चलाई भ्रष्टाचार पर झाड़ू, तभी भागा नीरव मोदी: जयंत सिन्हा

सरकार ने चलाई भ्रष्टाचार पर झाड़ू, तभी भागा नीरव मोदी: जयंत सिन्हा

0 50 views
Rate this post

नई दिल्ली

उड्डयन मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा है कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान देश में आर्थिक घोटालों और भ्रष्टाचार के खिलाफ जिस तरह से झाड़ू लगाने का काम किया है उसके चलते देश से नीरव मोदी जैसे लोग देश से भागने पर मजबूर हो गए हैं.

जयंत सिन्हा ने कहा कि मोदी सरकार की इस मुहिम के साथ चलाए जा रहे आर्थिक सुधारों से परेशान भ्रष्ट लोगों को साफ हो चुका है अब इस देश में वह भ्रष्ट तरीके से कारोबार नहीं कर सकते. सिन्हा ने कहा कि आने वाले दिनों में ऐसे और भ्रष्ट लोग देश से भागने की कोशिश कर सकते हैं लेकिन मोदी सरकार ऐसे सभी भगोड़े कारोबारियों को पकड़ कर वापस लाने का काम करेगी और उन्हें सजा दी जाएगी.

इसके अलावा देश में खस्ताहाल नागरिक उड्डयन सेवा पर जयंत सिन्हा ने कहा कि केन्द्र सरकार को पहले से पता था कि देश में हवाई जहाज के 17 इंजन खराब स्थिति में हैं. इस जानकारी के चलते केंद्र सरकार ने प्रावधान किया था कि किसी भी हवाई जहाज में दो खराब इंजन एक साथ नहीं लगाया जाएंगे. इसके चलते अभीतक एक खराब इंजन के साथ एक सही इंजन विमान में लगाकर उड़ान सेवा दी जा रही थी.

सिन्हा ने कहा कि काठमांडू हादसे के बाद केंद्र सरकार ने सभी खराब इंजनों को सेवा से बाहर कर दिया है. इस फैसले से इंडिगो के 11 विमान और गो एयर के 3 विमान अब उड़ान नहीं भरेंगे. जयंत सिन्हा ने बताया कि मौजूदा समय में देश में लगभग 1000 विमान इंजन हैं जिसके सहारे देश में करीब 500 विमान प्रतिदिन उड़ान भरते हैं.

दिल्ली आजतक के कॉन्क्लेव के खास सत्र में बोलते हुए जयंत सिन्हा ने एक बार फिर कहा कि मीडिया ने प्रधानमंत्री के पकौड़ेवाले बयान को मिर्च मसाला लगाकर पेश किया. जयंत सिन्हा ने कहा कि जब मैकडॉनल्ड जैसी कंपनी बर्गर बेचकर दुनियाभर में अपना नेटवर्क फैलाकर हजारों लाखों लोगों को रोजगार देने का काम कर सकती है तो क्या देश में चाय और पकौड़ेवाले भी अपना कारोबार को बड़ा नहीं बना सकते. वहीं रोजगार के मुद्दे पर जयंत सिन्हा ने कहा कि विपक्ष का बेरोजगारी का दावा पूरी तरह से गलत है.

सिन्हा के मुताबिक ओला और ऊबर जैसी सेवाओं के चलते बीते कुछ वर्षों में 10 लाख से ज्यादा ड्राइवरों को रोजगार मिला है लेकिन ये आंकड़े फिलहाल देश के रोजगार आंकड़ों में शामिल नहीं हैं. सिन्हा के मुताबिक नीति आयोग ऐसे रोजगार के आंकड़ों को भी देश में पैदा हो रही नौकरियों के आंकड़ों में शामिल करने की दिशा में काम कर रही है.

दोस्तों के साथ शेयर करे.....