Home राज्य सीएम योगी आदित्यनाथ ने पूछा- बिजली मिली, ग्रामीणों ने कहा-नहीं

सीएम योगी आदित्यनाथ ने पूछा- बिजली मिली, ग्रामीणों ने कहा-नहीं

0 37 views
Rate this post

उन्नाव

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को उन्नाव में गुरुवार को एक अजीब स्थिति का सामना करना पड़ा। दरअसल, सीएम योगी गुरूवार की शाम जिले के सदर तहसील के रऊकरना गांव की चौपाल में पहुंचे। सरकारी योजनाओं की हकीकत जानने के लिए चौपाल में मौजूद लोगों से जब सीएम ने पूछा, ‘क्या, बिजली आ रही है?’ सीएम के सवाल पर वहां मौजूद ज्यादातर लोगों ने हाथ हिलाकर ‘नहीं’ में जवाब दिया। इस पर सीएम ने तुरंत अधिशासी अभियंता को तलब कर लिया।

रऊकरना गांव में गुरुवार को आधे घंटे तक लगी चौपाल दिलचस्प रही। डीएम रविकुमार एनजी ने सबसे पहले सीडीओ प्रेमरंजन को गांव के बारे में बताने के लिए बुलाया। इस पर सीएम ने कहा, ‘गांव के बारे में पूछ लेंगे। आप जिले के बारे में बताइए। योजनाओं में अब तक लोगों को क्या बांटा गया है।’ जब मुख्यमंत्री ने पेंशन स्कीम के बारे में पूछा तो शिवरानी नाम की महिला ने कहा, ‘दो साल में सिर्फ एक बार पेंशन मिली है।’

वहीं, दिव्यांग संतराम ने पेंशन न मिलने की शिकायत की तो सीएम ने डीएम से जवाब तलब किया। जवाब के बाद संतराम से सीएम ने कहा कि आपको पेंशन मिलेगी।’ आवास योजना में भी पहली किश्त के बाद बाकी किश्तें न मिलने की शिकायत पर अधिकारियों को निर्देश दिया कि जहां घर बन चुके हैं, वहां रुपये रिलीज कराएं। विधवा पेंशन और राशन मिलने के सवालों के बीच जब कुछ युवक उठकर खड़े हुए तो मुख्यमंत्री ने चुटकी लेते हुए उन्हें बैठा दिया।

इससे पहले उन्नाव के निराला ऑडिटोरियम में ग्राम स्वराज अभियान के तहत तीन प्रधानों को पुरस्कृत किया गया। इस दौरान अपने भाषण में सीएम ने कहा कि रामराज्य की अवधारणा ग्राम स्वराज के माध्यम से पूरी की जा सकती है। उन्होंने प्रधानों के तहसीलों की तरह गांवों में भी ग्राम समाधान दिवस आयोजित करने को कहा। सीएन ने कहा, ‘प्रधान अपने कामों को पारदर्शी बनाएं। सारी योजनाओं और लाभार्थियों की लिस्ट पंचायत भवन में चिपकाएं। स्व राजीव गांधी ने कहा था कि केंद्र से चलने वाले 100 रुपये में आम आदमी को 10 रुपये मिलते हैं, लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी के समय में लोगों के खातों में पूरा पैसा पहुंचता है।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....