Home राज्य सीबीआई के सवालों से घबराए अधिकारी, सूख गया गला

सीबीआई के सवालों से घबराए अधिकारी, सूख गया गला

0 159 views
Rate this post

इलाहाबाद

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की भर्तियों में गड़बड़ी की जांच कर रही सीबीआई टीम ने सोमवार से पीसीएस 2015 की परीक्षा देकर चयनित अधिकारियों से पूछताछ शुरू कर दी। पहले दिन दस अधिकारियों को तलब किया गया था, इनमें सात अधिकारी ही सीबीआई कैंप पहुंचे। सुबह साढ़े दस बजे से इन अधिकारियों से अलग-अलग टीमों ने पूछताछ शुरू की और शाम तक यह सिलसिला चलता रहा।

सीबीआई का खौफ इन अधिकारियों पर इस कदर हावी था कि, जवाब देने में उनके गले सूख गए। एक महिला अधिकारी तो रोने लगी। जिन अधिकारियों को पूछताछ के लिए बुलाया गया था, इनमें कमर्शल टैक्स अधिकारियों से लेकर एसडीएम तक शामिल हैं। इनमें लखनऊ में तैनात एक एसडीएम भी हैं। सीबीआई टीम आयोग की 584 ऐसी भर्तियों की जांच कर रही है, जिनके रिजल्ट मार्च 2012 से अप्रैल 2017 के बीच आए हैं। अब तक की जांच में यह भर्ती घोटाला मध्य प्रदेश के व्यापमं घोटाले के स्तर का या उससे भी बड़ा होने की बात कही जा रही है।

पिछले करीब दो महीने में सीबीआई को छह सौ से अधिक शिकायतें मिली हैं। इनमें करीब चार सौ शिकायतें प्रतियोगी छात्रों ने व्यक्तिगत तौर पर आकर दीं जबकि दो सौ शिकायतें डाक से भेजी गयी हैं। इनमें ऐसे मामले भी हैँ जिनमें मेरिट से अधिक नंबर पाकर भी अभ्यर्थी चयनित नहीं हुए हैं।

तो सहयोग नहीं कर रहा नियुक्ति विभाग!
सूत्रों की मानें तो सीबीआई ने पीसीएस 2015 की परीक्षा देकर चयनित अधिकारियों की तैनाती के बारे में नियुक्ति विभाग से सूचना मांगी थी लेकिन इन सूचनाओं के लिए उसे काफी छकाया गया। सचिव स्तर के एक अधिकारी ने सूचनाएं देने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों की अनुमति की बात कही। बताते हैँ कि, ऐसा चहेतों को बचाने के लिए किया जा रहा है।

पूछे गए ऐसे-ऐसे सवाल
सीबीआई टीम ने पीसीएस 2015 की परीक्षा देकर चयनित और तलब अधिकारियों से ऐसे-ऐसे सवाल पूछे कि, कुछ बगलें झांकने लगे तो कुछ रोने लगे। पूछे गए सवालों में अधिकारियों की पारिवारिक पृष्ठभूमि, सामाजिक और राजनैतिक पकड़, पीसीएस की परीक्षा में कितनी बार बैठे, वर्तमान में तैनाती स्थल पर परिचित, आयोग में कोई परिचित है या नहीं, किसी से पहले फोन पर बात हुई या नहीं, बैंक अकाउंट, परिवार और खास रिश्तेदारों के बैंक अकाउंट, किसी एक्सपर्ट से परिचय, किसी मॉडेरेटर से परिचय और इन सवालों के उत्तर का हलफनामा कि सब सही बताया है। अधिकारियों से अलग-अलग सीबीआई टीमों ने पूछताछ की और करीब दो दर्जन से अधिक सवाल पूछे गए। अंत में यह भी कहा गया कि, यदि आप अपनी ओर से कुछ बताना चाहते हैं तो बताएं।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....