Home राष्ट्रीय स्वाति मालीवाल के समर्थन में पहुंचे शत्रुघ्न सिन्हा, की केजरीवाल की तारीफ

स्वाति मालीवाल के समर्थन में पहुंचे शत्रुघ्न सिन्हा, की केजरीवाल की तारीफ

0 89 views
Rate this post

नई दिल्ली,

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के अनशन को 4 दिन हो गए हैं. दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल समता स्थल, राजघाट पर आमरण अनशन पर बैठी हुई हैं. उनकी मांग है कि एक ऐसा कानून बने जिससे बच्चों के बलात्कारियों को 6 महीने में मुकदमा खत्म करके फांसी की सजा दी जाए.

भारतीय जनता पार्टी के सांसद और फिल्म अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा सोमवार को स्वाति मालीवाल के अनशन का साथ देने अनशन स्थल पर पहुंचे. इस दौरान सिन्हा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की जमकर तारीफ करते भी नजर आए.

उन्होंने कहा, ‘मैं यहां एक राजनीतिज्ञ के रूप में नहीं आया हूं, बल्कि मैं एक जागरूक नागरिक, जागरूक कलाकार और एक जागरूक पिता के रूप में यहां आया हूं. मैं अरविंद केजरीवाल से पूरी तरह सहमत हूं कि इस तरह के गंभीर अपराधों में तय समय में मुकदमा पूरा करके कड़ी से कड़ी सजा, सजा ए मौत होनी चाहिए.’

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि अगर अन्ना 73 साल की उम्र में 13 दिन अनशन कर सकते हैं, अरविंद केजरीवाल मधुमेह के मरीज होते हुए भी 15 दिन अनशन कर सकते हैं तो आपको क्या लगता है, महिलाएं क्या इतनी कमजोर हैं कि वो केवल 3 दिन अनशन कर सकती है?

व्यापारियों का समर्थन
उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस द्वारा व्यवधान डालने से उनकी शक्ति बढ़ी ही है, और वह अपना अनशन तब तक नहीं तोड़ेंगी जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं हो जातीं. अनशन पर बैठी मालीवाल को अब व्यापारियों का समर्थन भी मिलने लगा है. चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंड्स्ट्री (सीटीआई) के कन्वीनर बृजेश गोयल के नेतृत्व में आज दिल्ली की लगभग 100 मार्केट असोसिएशनों के पदाधिकारियों ने राजघाट पहुंच कर अपना समर्थन दिया.

बृजेश गोयल ने कहा कि कल से दिल्ली के बाजारों में भी रेप रोको मुहिम की शुरुआत की जाएगी, 100 से अधिक बाजारों में कैंडल मार्च निकाले जाएंगे, बाजारों में पैम्पलैट्स बांटे जाएंगे और मुख्य चौराहों पर बैनर पोस्टर लगाए जाएंगे.

स्वाति मालीवाल ने आज अपना दिन राजघाट पर प्रार्थना करके और प्राणायाम करके शुरू किया. दिल्ली महिला आयोग की टीम के मुताबिक सुबह 6 बजे दिल्ली पुलिस स्वाति मालीवाल का अनशन खत्म करवाने के लिए राजघाट पहुंच गई, मगर उन्होंने अपना अनशन समाप्त करने से इनकार कर दिया.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष बच्चों के बलात्कार के मामलों में मुकदमा 6 महीने में पूरा होने और अपराधियों को फांसी देने की मांग को लेकर पिछले 4 दिनों से अनशन कर रही हैं. साथ ही वह दिल्ली में बेहतर फोरेंसिक लैब और 66,000 पुलिस कर्मियों की भर्ती की मांग कर रही हैं.

दोस्तों के साथ शेयर करे.....