Home भोपाल मध्य प्रदेश: 2 टीचर छुट्टी पर, 1 चुनाव में, बच्चे रोज लौटते...

मध्य प्रदेश: 2 टीचर छुट्टी पर, 1 चुनाव में, बच्चे रोज लौटते हैं

भोपाल

मध्य प्रदेश के इसागढ़ ब्लॉक स्थिति गवर्नमेंट मिडिल स्कूल में कहने को तो चार अध्यापक नियुक्त हैं लेकिन इनमें से दो मेडिकल लीव पर हैं और एक चुनावी ड्यूटी में व्यस्त हैं। ऐसे में एक अध्यापक पर ही स्कूल के संचालन की जिम्मेदारी है। मतलब यह कि एक स्कूल, एक टीचर और पढ़ाई भगवान भरोसे। हालांकि, स्कूल में इस अव्यवस्था को पिछले एक महीने से देखते आ रहे नाराज तकरीबन 50 छात्रों ने बुधवार को डीएम कार्यालय में जमकर प्रदर्शन किया। इसके बाद डीएम मंजू शर्मा ने जांच के निर्देश देते हुए जिला शिक्षा अधिकारी से इस पूरे मामले में एक विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।

डीएम मंजू शर्मा ने हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, ‘हम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। जिम्मेदार लोगों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। छात्रा-छात्राएं अध्यापकों की अनुपस्थिति की वजह से दिक्कतों का सामना कर रहे थे।’

सूत्रों का कहना है कि मिडिल स्कूल में चार अध्यापक नियुक्त हैं। इनमें से एक इलेक्शन ड्यूटी में पिछले कुछ समय से लगे हुए हैं जबकि दो टीचर मेडिकल लीव पर चल रहे हैं। छात्र-छात्राओं को पढ़ाने के लिए सिर्फ एक अध्यापक ही स्कूल में मौजूद हैं।

डीएम ऑफिस में पहुंचे नाराज छात्राओं ने वहां पर प्रदर्शन किया। यही नहीं, उन्होंने स्कूल में व्याप्त अव्यवस्था के खिलाफ नारेबाजी भी की। बाद में डीएम मौके पर पहुंचीं और समस्या का समाधान करने का भरोसा दिलाते हुए जांच के निर्देश दे दिए।

आशीष मीना नाम के छात्र ने कहा, ‘हम रोज स्कूल जाते हैं और वापस घर चले जाते हैं क्योंकि वहां पर शिक्षक ही नहीं हैं। ऐसा पिछले एक महीने से चल रहा है।’ बच्चों का साथ देते हुए ग्रामीणों ने कहा, ‘छात्र-छात्राओं ने स्थानीय अधिकारियों के सामने भी यह मुद्दा उठाया था लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। जब ऐसा एक महीने तक चलता रहा तब जाकर धरना देने की नौबत आई।’

Did you like this? Share it: