Home खेल T20 क्रिकेट में कोई चर्चा नहीं, मैं ही महान हूं: क्रिस गेल

T20 क्रिकेट में कोई चर्चा नहीं, मैं ही महान हूं: क्रिस गेल

नई दिल्ली

क्रिस गेल का नाम सुनते ही मैदान में उनके लंबे-लंबे छक्के याद आ जाते हैं। गेल खुद को यूनिवर्स बॉस मानते हैं इतना ही नहीं गेल यह भी मानते हैं कि बिना किसी शक के टी20 क्रिकेट में वह ही सबसे महान खिलाड़ी हैं। अपनी बात को साबित करते है हुए जमैका का यह खिलाड़ी कहता है, ‘टेस्ट और वनडे क्रिकेट में भले नंबर 1 खिलाड़ी के लिए चर्चा है, लेकिन T20 क्रिकेट में यह चर्चा का विषय नहीं है। सब जानते हैं कि यहां मैं ही महान हूं। दुनिया मानती है कि T20 में बेस्ट क्रिकेटर क्रिस गेल ही है। T20 क्रिकेट में जो मैंने साबित किया है वह इस दुनिया से बाहर की ही चीज है। मैंने इस खेल को अपने ही अंदाज में गढ़ा है। इसलिए मैं ही यूनिवर्स का बॉस हूं।’

हमेशा मजाक करने वाले और इंजॉय करने वाले गेल पूरी गंभीरता के साथ अपनी बार को आगे बढ़ाते हुए कहते हैं, ‘सिर्फ मैं ही नहीं मानता दूसरे भी मानते हैं कि मैं यूनिवर्स का बॉस हूं और कभी किसी ने इस पर सवाल नहीं उठाया है।’ वेस्ट इंडीज का यह धाकड़ बल्लेबाज इन दिनों क्रिकेट से इतर एक पोकर वेबसाइट अड्डा52 के प्रमोशन के लिए भारत दौरे पर हैं। गेल इस वेबसाइट के ब्रांड ऐंबैसडर हैं। इस मौके पर क्रिस गेल हमारे सहयोगी अखबार दिल्ली टाइम्स से रू-ब-रू हुए।

बहुत कम लोग जानते हैं कि क्रिस गेल ने अपने सीनियर क्रिकेट करियर की शुरुआत वेस्ट इंडीज से नहीं बल्कि भारत से की थी। साल 1998 में गेल का चयन वेस्ट इंडीज A टीम में भारत A टीम के खिलाफ सीरीज के लिए हुआ था। इस दौरे पर वह पुणे के मैदान पर खेले थे और गेल के लिए भारत में सबसे यादगार पलों में वह आज भी सबसे खास है।

गेल कहते हैं कि लोग भारत में मेरे यादगार पलों में IPL के दौरान बेंगलुरु में खेली मेरी वर्ल्ड रेकॉर्ड 175 रन की पारी को खास बताते हैं। लेकिन इस देश में मेरी ढेर सारी यादें हैं। मैंने यहां से ही फर्स्ट क्लास डेब्यू किया थी। यह बहुत खास है। यह पुणे में हुआ था। (तब गेल वेस्ट इंडीज A के लिए भारतीय युवा XI के खिलाफ नवंबर 1998 में खेले थे।) यह कुछ ऐसा है, जिसे मैं हमेशा याद रखूंगा।

बता दें हाल ही में गेल ने इंटरनैशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा छक्के मारने के रेकॉर्ड में शाहिद अफरीदी की बराबरी कर ली है। गेल और अफरीदी 476 छक्के जड़कर संयुक्त रूप से नं 1 हैं। इस पर गेल हंसते हुए कहते हैं कि वह अब इंटरनैशनल क्रिकेट छक्के नहीं जड़ेंगे और अब से सिर्फ चौके लगाएंगे। गेल मजाकिया अंदाज में कहते हैं, ‘मैं बूम-बूम अफरीदी से आगे नहीं जाना चाहता। हम दोनों 476 छक्कों पर एक साथ रहेंगे, जिससे दो लेजंड शीर्ष पर बराबरी पर रहेंगे।’

अपने करियर में 103 टेस्ट और 284 वनडे मैच खेल चुके गेल से जब यह पूछा गया कि टेस्ट और वनडे में भी शानदार रेकॉर्ड होने के बावजूद उनकी पहचान बतौर T20 खिलाड़ी के रूप में ही ज्यादा है, तो क्या इससे उन्हें कुछ खराब लगता है? इसके जवाब में इस धाकड़ लेफ्टहैंडर बल्लेबाज ने कहा, ‘मैं पहली नजर में यह सुनकर हंसता ही हूं। मैं सोचता हूं कि मैंने क्रिकेट के बाकी 2 फॉर्मेट में जो किया वह किसी को याद ही नहीं। लेकिन अब मैं सोचता हूं कि ठीक है वह यह सोचते हैं कि क्रिस गेल टी20 में सबसे बेस्ट खिलाड़ी है।’

Did you like this? Share it: