Home अंतराष्ट्रीय डोकलाम: चीनी राजदूत बोले, अब आगे की बात

डोकलाम: चीनी राजदूत बोले, अब आगे की बात

अमृतसर

भारत और चीन के रिश्तों में डोकलाम विवाद ने एक बड़ी दरार डाल दी थी। हालांकि, अब स्थिति सुधरती दिख रही है। शुक्रवार को पंजाब के अमृतसर में स्थित स्वर्ण मंदिर में मत्था टेकने पहुंचे भारत में चीनी राजदूत लुओ झाहुई ने कहा कि वह मुद्दा अब पीछे छूट चुका है और दोनों देश अब आपसी रिश्ते को सकारात्मक दृष्टि से देखते हुए बेहतरी के लिए काम कर रहे हैं।

डोकलाम विवाद पर सवाल पूछे जाने पर लुओ ने कहा, ‘वह पन्ना पहले ही पलटा जा चुका है। हम भविष्य की ओर देखने के लिए सहमत हुए हैं। मैं खुश हूं और हमारे द्विपक्षीय संबंधों को लेकर सकारात्मक भी हूं।’

इससे पहले अप्रैल महीने में वुहान में हुई पीएम मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की मुलाकात में भी आपसी संबंधों को सुधारने पर जोर दिया गया था। पिछले साल डोकलाम में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच 2 महीने से ज्यादा वक्त सैन्य गतिरोध चला था। ऐसे में मोदी और शी ने इस मीटिंग के जरिए ‘सीमावर्ती इलाकों में शांति’ को बरकरार रखने के महत्व पर जोर दिया। दोनों पक्ष इसके लिए अपनी-अपनी सेना को रणनीतिक निर्देश जारी करेंगे और मजबूत संवाद के जरिए विश्वास और आपसी समझ पैदा करेंगे। दोनों पक्ष आपसी विश्वास बहाली के लिए मिलकर काम करेंगे।

गतिरोध कम करने के लिए और ज्यादा संवाद
भारत और चीन के बीच संवाद के लिए एक व्यापक मंच की लंबे समय से जरूरत है ताकि विवादित मुद्दों को तूल पकड़ने से पहले ही उन्हें हल किया जा सके। दोनों नेता इस बात पर सहमत हुए कि दोनों पक्ष अपने आपसी मतभेदों को शांतिपूर्ण बातचीत के जरिए परिपक्वता और समझदारी से निपटेंगे। दोनों देशों ने कहा कि वे सीमा विवाद का शांतिपूर्ण समाधान चाहते हैं और इसके लिए दोनों देशों ने विशेष प्रतिनिधियों की नियुक्ति की है।

Did you like this? Share it: