Home राज्य 10वीं बार प्रेग्नेंट, बर्थ कंट्रोल की सलाह पर फुर्र

10वीं बार प्रेग्नेंट, बर्थ कंट्रोल की सलाह पर फुर्र

त्रिची

तमिलनाडु में डिलिवरी डेट से पहले एक प्रेग्नेंट महिला अपने परिवार के साथ प्राइमरी हेल्थ सेंटर (पीएचसी) से भाग गई। डॉक्टरों ने उससे तुरंत अस्पताल में भर्ती होने को कहा था। यह अजीब वाकया अर्नथांगी के पास वेतियानगुड़ी में हुआ, जहां महिला की पहचान 56 साल के आनंदन की पत्नी आरायी (52 साल) के रूप में हुई है। वह प्रेग्नेंट थीं और लो-हीमोग्लोबिन के चलते डॉक्टर उनका इलाज कर रहे थे।

पहले ही नौ बच्चों की मां आरायी को बिल्कुल अंदाजा नहीं था कि वह दसवें बच्चे को जन्म देने वाली हैं। 13 साल बाद सिंहवनम में स्थित पीएचसी पहुंची आरायी तबीयत खराब होने के चलते अस्पताल आई थीं। डॉक्टरों ने कहा कि उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती किए जाने और डिलिवरी के बाद बर्थ कंट्रोल लेने की जरूरत है। इसके लिए कहने पर वह अस्पताल से गायब हो गईं।

‘पता नहीं चला, कब प्रेग्नेंट हुईं’
पहले से ही नौ बच्चों की मां अपने पांच बच्चों और पति के साथ करीब पांच साल से यहां साठ वर्ग फीट के घर में रह रही हैं। यह परिवार एक से दूसरी जगह जाता रहा है और एक जगह नहीं ठहरा। उनके चार बच्चों की शादी हो चुकी है और वे अपने परिवार के साथ रहते हैं। आरायी को पता नहीं चला कि वह फिर से कब प्रेग्नेंट हो गईं। उन्हें लगा था कि मीनोपॉज के बाद वह प्रेग्नेंट नहीं होंगी।

स्थानीय लोगों के मुताबिक, आरायी के बाकी सभी बच्चे घर पर ही हुए हैं और वह 18 अगस्त को दसवें बच्चे की डिलिवरी के लिए भी अस्पताल नहीं जाना चाहतीं। उन्हें लगता है कि पीएचसी के डॉक्टर उनकी सर्जरी करना चाहते हैं और इस डर से वह अस्पताल से भाग गईं। बीते दिनों हीमोग्लोबिन की कमी के चलते उन्हें खून चढ़ाया गया था और इलाज चल रहा था। वह पहले भी अस्पताल से गायब हो गई थीं।

Did you like this? Share it: