Saturday , October 20 2018
Home / Featured / भारत में हमलों की तैयारी में अल कायदा, तलाश रहा मौका: यूएन रिपोर्ट

भारत में हमलों की तैयारी में अल कायदा, तलाश रहा मौका: यूएन रिपोर्ट

वॉशिंगटन

यूएन ने भारत और मध्य एशियाई देशों को चेतावनी देते हुए एक रिपोर्ट जारी की है। इसमें अल कायदा और आईएसआईएस को इलाके के लिए बड़ा खतरा बताया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, आतंकी संगठन अल कायदा भारत में अपने हमले तेज करने की हरसंभव कोशिश कर रहा है। इम काम में इसका नया संगठन अल कायदा इंडियन सबकॉन्टिनेंट (AQIS) लगा हुआ है।

रिपोर्ट के मुताबिक, यह संगठन भारत के अंदर हमले करने की पूरी तैयारी में है लेकिन हाल में क्षेत्र में बढ़ी सुरक्षा की वजह से उसकी हर बड़ी कोशिश फेल हो रही है। रिपोर्ट में इस्लामिक स्टेट इन इराक ऐंड लेवंत (ISIL) का भी जिक्र है। आईएसआईएस नाम से जाना जाने वाला यह संगठन मध्य एशियाई देशों के लिए बड़ी परेशानी खड़ी कर सकता है।

यह रिपोर्ट ऐनालिटिकल सपॉर्ट ऐंड सैंक्शन मॉनिटरिंग टीम द्वारा यूएन सिक्यॉरिटी काउंसिल अल कायदा सैंक्शन कमिटी को सौंपी गई है। यह मॉनिटरिंग टीम इस्लामिक स्टेट, अल कायदा और बाकी संगठनों की जानकारी देनेवाली एक रिपोर्ट हर छह महीने में देती है। रिपोर्ट में कहा गया है कि आतंकी संगठन इस इंतजार में है कि कब सुरक्षा में कोई चूक हो और वह उसका हरसंभव फायदा उठा ले। रिपोर्ट के मुताबिक, अल कायदा भले ही पहले से कमजोर हुआ हो लेकिन उसने अब भी साउथ एशिया में अपनी जड़े जमाई हुई हैं और वह भारत में हमले के लिए लोकल सपॉर्ट की तलाश में है।

रिपोर्ट में अलकायदा का जिक्र कर बताया गया है कि उसके कुछ प्रमुख सदस्य जैसे अयमान अल जवाहिरी और ओसामा बिन लादेन का बेटा हमजा बिन लादेन अफगानिस्तान-पाकिस्तान के बॉर्डर के आसपास इलाकों में छिपे हुए हैं। वहीं उसके बाकी सदस्य भी किसी महफूज जगह पर हैं।

ISIL होगा बड़ा खतरा
यह संगठन अफगानिस्तान में बैठकर यूरोप में हुए कुछ हमलों को अंजाम देने की कोशिश में शामिल था। रिपोर्ट के मुताबिक, कश्मीर में हुए एक हमले में भी उसका हाथ था। हालांकि, उस हमले के बारे में कुछ ज्यादा जानकारी नहीं दी गई है।

रिपोर्ट के मुताबिक, ISIL फिलहाल अफगानिस्तान में अपनी पकड़ मजबूत करने की कोशिश में है। फिलहाल पूर्वी प्रांत कुनार, नंगारहर और नूरिस्तान के साथ-साथ उत्तर के फरीयाब, सारी पुल और बदाखशन प्रांत में वह ऐक्टिव है। अब वह गजनी, कुंडुज, लागहमान, लोगार और उरुजगन में खुद को फैला रहा है।

वहीं, काबुल, जलालाबाद और हेरात में उसके स्लीपर सेल पहले से मौजूद हैं जो कुछ भी कर गुजरने को तैयार हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, ISIL के करीब 3500 से 4000 आतंकी हैं। इनका प्रमुख अबु सय्यद बाजुरी है, जो ज्यादा खबरों में नही रहता। तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान के कुछ लोग भी इससे जुड़े हैं जो मध्य एशियाई देशों के लिए खतरा है।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

भागवत के बाद योगी- राम मंदिर की करें तैयारी

गोरखपुर आरएसएस चीफ मोहन भागवत के बाद अब यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)