Home राज्य बिहार: अटल बिहारी वाजपेयी की आलोचना करने पर प्रफेसर की पिटाई

बिहार: अटल बिहारी वाजपेयी की आलोचना करने पर प्रफेसर की पिटाई

मोतिहारी

दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के बारे में आलोचनात्मक सामग्री फेसबुक पर शेयर करने के आरोप में युवकों के एक समूह ने बिहार के मोतिहारी में स्थित महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय के सहायक प्राध्यापक की जमकर पिटाई कर दी। पुलिस ने कहा है कि सोशल मीडिया पर डाली गई पोस्ट और हमले के बीच अबतक कोई संबंध नहीं मिला है।

क्षेत्रीय समाचार चैनलों ने एक विडियो दिखाया है, जिसमें कथित रूप से देखा जा सकता है कि मोतिहारी शहर के आजाद नगर इलाके में संजय कुमार को उनके आवास से बाहर घसीटकर पिटाई की जा रही है। शहर के टाउन थाने में इस संबंध में एक प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। सहायक प्रफेसर को मोतिहारी सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, इसके बाद उन्हें पटना चिकित्सा महाविद्यालय भेजा गया है।

‘कैंपस पॉलिटिक्स भी हो सकती है विवाद की वजह’
मीडिया में आई खबरों के अनुसार, सहायक प्रफेसर ने वाजपेयी की राजनीतिक विचाराधारा पर सवाल उठाते हुए कुछ सामग्री फेसबुक पर शेयर की थी। मोतिहारी के पुलिस अधीक्षक उपेंद्र कुमार शर्मा ने बताया, ‘कुमार ने अपनी शिकायत में सोशल मीडिया के एक पोस्ट जिक्र किया है, जिसके बारे में कहा जा रहा है कि उसे डिलीट किया जा चुका है।’ अधिकारी ने बताया कि पोस्ट का सोशल मीडिया पर विरोध हुआ था कि लेकिन उन्हें नहीं लगता है कि इस हमले का कारण यही है। उन्होंने आशंका जताई कि इस हमले के पीछे ‘कैंपस प्रतिद्वंद्विता’ एक मुख्य कारण है क्योंकि वह कई प्रभावशाली फैकल्टी सदस्यों और विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ बोलते रहते हैं।’

शर्मा ने कहा, ‘मामले की समग्रता से जांच कराने के बाद ही तस्वीर साफ होगी। अभी हम हमलावरों की पहचान करने और उन्हें पकड़ने की कोशिश कर रहे हैं।’ घटना की आलोचना करते हुए बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया, ‘मुख्यमंत्रीजी यह क्या हो रहा है? आरएसएस के गुंडों ने कुलपति के संरक्षण में एक प्रफेसर पर हमला किया और लगभग पीट-पीट कर उसे मार ही दिया था, उनलोगों ने उन्हें जिंदा जलाने के लिए उन पर पेट्रोल डाल दिया। नीतीशजी, आप आरएसएस की शाखा क्यों नहीं खोलते हैं और स्वयं उसके सरसंघचालक क्यों नहीं बन जाते हैं?’

Did you like this? Share it: