Home भेल न्यूज़ भेल एक्जीक्यूटिव और सुपरवाइजरों को मिलेगी नए वेज रिवीजन की सौगात

भेल एक्जीक्यूटिव और सुपरवाइजरों को मिलेगी नए वेज रिवीजन की सौगात

अब कर्मचारियों का नम्बर, 21 सितंबर को हो सकता है फैसला

भोपाल

भेल के सभी एक्जीक्यूटिव और सुपरवाइजर्स को इसी सितंबर महीने से नए वेज रिवीजन की सौगात मिल सकती है। यह घोषणा डायरेक्टर एचआर डी बंदोपाध्याय ने भेल के सभी यूनिटों के एक्जीक्यूटिव, सुपरवाइजर्स और कर्मचारी यूनियनों के प्रतिनिधियों के साथ बुधवार को हुई वीडियो  कांफ्रें सिंग में की।

प्रबंधन कर्मचारियों को भी एक्जीक्यूटिव और सुपरवाइजरों की तरह ही 10 फ ीसदी फि टमेंट और 31 फ ीसदी पर्क देने का मन बना चुका है। ज्वाइंट कमेटी की आगामी 21 सितंबर को होने वाली बैठक में अगर यूनियनों के साथ सहमति बन जाती है तो कर्मचारियों को भी सितंबर से दस साल के वेज रिवीजन का लाभ मिल सकता है।

यह एरियर्स 1 जनवरी 2017 से दिये जाने की संभावना है। अगर किसी वजह से सहमति नहीं बनती है तो भी तब भी एक्जीक्यूटिव-सुपरवाइजर्स फॉर्मूले के आधार कर्मचारियों का वेज रिवीजन का फैसला हो सकता है।

प्रतिनिधि यूनियन इंटक व ऐबू ने कर्मचारियों के लिए 1997 और 2007 की तर्ज पर 10 साल के वेज रिवीजन की मांग की। रही बात वेज रिवीजन एनटीपीसी के तर्ज पर किये जाने की तो उसकी आमदनी भेल की तुलना में काफी है। इसलिए यह संभव नहीं दिखाई दे रहा है। वीडियों कान्फे्रसिंग में इंटक के ही प्रतिनिधियों नेे 2006 बैच के कर्मचारियों के नौ माह का ऐरियर्स और 2009 बैच के बाद के कर्मचारियों के ढाई इंक्रीमेंट का मुद्दा उठाया।

इस कांफ्रें सिंग में इंटक से रंजीत सिंह और मिथिलेश तिवारी, ऐबू से रामनारायण गिरी और सावन पासी, बीएमएस से कमलेश नागपुरे और रोहित कुमार ने भाग लिया। सुपरवाइजर्स संगठन की और से शेक्सपियर और अशोक कुमार तिवारी ने भाग लिया , जबकि एक्जीक्यूटिव से रतनलाल भाबर प्रतिनिधि थे।

Did you like this? Share it: