Home Default फीकी पड़ी कांग्रेस के ऐप की ‘शक्ति’, राहुल गांधी से नहीं मिलना...

फीकी पड़ी कांग्रेस के ऐप की ‘शक्ति’, राहुल गांधी से नहीं मिलना चाहते कार्यकर्ता!

भोपाल

चुनावी साल में कांग्रेस वोटरों को साधने का कोई मौका हाथ से नहीं जाने देना चाहती. इसी मकसद से कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर लोगों को जोड़ने के लिए ‘शक्ति ऐप’ लॉन्च किया था और कार्यकर्ताओं को लुभाने के लिए कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने का ऑफर भी दिया था, लेकिन लगता है कि राहुल का क्रेज कार्यकर्ताओं में कम हो गया है!

दरअसल, बीजेपी ने चुनावी साल में लोगों को जोड़ने के लिए कभी ‘मिस सोशल’ का कॉन्सेप्ट शुरू किया तो कभी मिस्ड कॉल अभियान चलाकर लोगों को लुभाया, जिसके जवाब में कांग्रेस लेकर आई शक्ति ऐप. इस ऐप में कांग्रेस ने लोगों को जोड़ने के प्रयास करने के साथ-साथ कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाने के लिए उन्हें लुभावने ऑफर भी दिए.

इसमें बताया गया था कि जो कार्यकर्ता सबसे ज्यादा रजिस्ट्रशन करवाएगा उसे सीधे कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने का मौका मिलेगा. लेकिन लगता है राहुल गांधी से मिलने का ऑफर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को खास पंसद नहीं आया, शायद यही वजह है कि जोर-शोर से शुरू किये गए राहुल गांधी के ड्रीम प्रोजक्ट शक्ति में एमपी की कई विधानसभाओं में नाम मात्र के रजिस्ट्रेशन ही हो पाए.

प्रदेश की 230 विधानसभाओं में यह रहा ‘शक्ति’ का हाल
– खुरई और रेहली विधानसभा में कुल 13 लोगों का हुआ रजिस्ट्रेशन
– भितरवार में केवल 17 तो, विजयपुर, डबरा, शिवपुरी, सरदारपुर जैसी जगहों पर 20 से 25 लोग जुड़े
– कुल मिलाकर 230 विधानसभाओं में से 12 विधानसभाओं में 30 से कम हुआ रजिस्ट्रेशन
– वहीं 30 विधानसभा ऐसे हैं जहां रजिस्ट्रेशन 50 का आंकड़ा भी नहीं छू पाया
– बैतूल में सबसे ज्यादा 4634 लोगों का रजिस्ट्रेशन
– बात दिग्गजों के क्षेत्र की करें तो कमलनाथ के क्षेत्र छिंदवाड़ा में सिर्फ 287 लोग जुड़े
– भोपाल की सभी विधानसभाओं को मिलाकर हुए महज 3214 रजिस्ट्रेशन हुए

Did you like this? Share it: