Wednesday , November 14 2018
Home / Featured / IND vs WI: बतौर कप्तान कोहली का 14वां शतक, अब सिर्फ पोंटिंग से पीछे

IND vs WI: बतौर कप्तान कोहली का 14वां शतक, अब सिर्फ पोंटिंग से पीछे

गुवाहाटी

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने वनडे इंटरनैशनल करियर में अपना 36वां शतक लगाया है। रविवार को गुवाहाटी में वेस्ट इंडीज के खिलाफ खेले जा रहे पांच मैचों की सीरीज के पहले मैच में उन्होंने यह मुकाम हासिल किया। उन्होंने केमार रोच की गेंद पर चौका लगाकर 88 गेंदों पर अपनी सेंचुरी पूरी की। इसके अलावा रोहित शर्मा ने भी अपने वनडे करियर का 20वां शतक पूरा किया।

यह कोहली के करियर का 60वां अंतरराष्ट्रीय शतक है। यहां पहुंचने वाले वह सिर्फ 5वें बल्लेबाज हैं। उन्होंने अपने करियर की 386वीं पारी में यह मुकाम हासिल कर लिया। कोहली सबसे तेजी से 60 अंतरराष्ट्रीय शतक बनाने वाले बल्लेबाज भी बन गए हैं। उन्होंने 386 पारियों में यह मुकाम हासिल कर लिया। उन्होंने सचिन तेंडुलकर से 40 पारियां कम खेलकर यह रेकॉर्ड बनाया।

बतौर कप्तान 14वां शतक रहा। इसके साथ ही वनडे इंटरनैशनल में बतौर कप्तान वह सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले खिलाड़ियों में वह दूसरे पायदान पर आ गए। कोहली ने साउथ अफ्रीका के एबी डि विलियर्स को पीछे छोड़ा। डि विलियर्स ने कप्तान के रूप में 13 शतक लगाए थे।

भारत के लिए यह रेकॉर्ड सौरभ गांगुली के नाम था जिन्होंने 11 शतक लगाए थे। बतौर कप्तान वनडे में सबसे ज्यादा शतक ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज रिकी पोंटिंग ने बनाए हैं। पोंटिंग ने 22 शतक लगाए थे। पोंटिंग ने जहां 22 शतकों के लिए 220 पारियां खेलीं वहीं कोहली ने सिर्फ 50 पारियों में 14 शतक लगा दिए हैं।

कोहली जब बल्लेबाजी करने उतरे तो भारतीय टीम के सामने 323 रनों का विशाल लक्ष्य था और सलामी बल्लेबाज शिखर धवन 4 रन बनाकर पविलियन लौट चुके थे। वेस्ट इंडीज के तेज गेंदबाज केमार रोच और ओशान थॉमस अच्छी गेंदबाजी कर रहे थे।

कोहली ने अपने इस शतक में कई अन्य उपलब्धियां हासिल कीं। रनों का पीछा करते हुए यह उनका 22वां शतक था। इसके अलावा भारत में यह उनका 15वां शतक रहा। इतना ही नहीं कोहली का यह वेस्ट इंडीज के खिलाफ 5वां वनडे शतक था। यह भारत के लिए वेस्ट इंडीज के खिलाफ किसी भारतीय बल्लेबाज द्वारा लगाए गए सबसे ज्यादा शतक हैं।

कोहली ने सचिन तेंडलुकर के पांच बार 2000 से उससे ज्यादा रन बनाने के भारतीय रेकॉर्ड की भी बराबरी कर ली। कोहली और सचिन के अलावा सौरभ गांगुली ने चार और राहुल द्रविड़ ने तीन बार यह कारनामा किया है। यह लगातार तीसरा साल है जब कोहली ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 2000 रन पूरे किए हैं। सचिन ने 1996-98 के बीच ऐसा किया था।

कोहली के अलावा रोहित ने भी अपने बल्ले का जौहर दिखाया। उन्होंने 84 गेंदों पर अपने वनडे करियर का 20वांं शतक पूरा किया। कोहली आखिर में 140 रन बनाकर देवेंद्र बीशू की गेंद पर स्टंप हो गए। उन्होंने 107 गेंदों का सामना किया और अपनी पारी में 21 चौके और 2 छक्के लगाए। रोहित और कोहली के बीच दूसरे विकेट के लिए 246 रनों की साझेदारी की। यह रनों का पीछा करते हुए भारत की ओर से सबसे बड़ी साझेदारी है।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

यौन शोषण की वजह से बिन्नी को छोड़ना पड़ा CEO का पद

नई दिल्ली देश की दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट के सीईओ बिन्नी बंसल ने अपने पद …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)