Monday , June 24 2019
Home / भेल मिर्च मसाला / सब सुख लहे तुम्हारी सरना

सब सुख लहे तुम्हारी सरना

भोपाल

जब बड़े साहब मेहरबान हो तो समझो बल्ले-बल्ले। कारखाने के इलेक्ट्रिकल मशीन ग्रुप के एक अपर महाप्रबंधक स्तर के एक अधिकारी मजे में है। विभाग में हनुमान चालीसा की एक चौपाई चर्चा में है कि सब सुख लहे तुम्हारी सरना, तुम रक्षक काहु को डरना। एजीएम साहब इस साल प्रमोशन की कतार में खड़े हो गये हैं। पहले मेनटेनेंस में रहे एजीएम साहब बड़े साहब की मेहरबानी से फिलहाल तीन विभाग एलईएम, आईएमएम और एचजीएम के एचओडी बने हुए हैं। खबर है कि उन्हें इस साल एजीएम से जीएम बनाया जा सकता है। इधर फेब्रीकेशन विभाग से इसी साल रिटायर हो रहे एक अपर महाप्रबंधक एचओडी की भूमिका में ध्यान योग में मग्न रहकर काम करते हुए देखे जा रहे हैं अब उनका सामना तेज तर्रार व ईमानदार महाप्रबंधक पीके मिश्रा से होगा। उनके सामने वह टिक पाते हैं या नहीं यह देखना बाकी है।

शकुनी मामा की जय हो

एसटीएम विभाग के एक महाप्रबंधक स्तर के अधिकारी की शह पर काम कर रहे एक उप महाप्रबध्ंाक स्तर के अधिकारी विभाग में शकुनी मामा के रूप में मशहूर हो गये हैं। पहले स्वीचगियर में रहे तो चर्चित रहे फिर एमएम थर्मल में भी अपने नाम का डंका बजाते रहे। मजेदार बात यह है कि अब इन्हें एमएम से प्लानिंग में लाया गया है। अब यहां भी काम प्लानिंग में कर रहे हैं दखल एमएम में। चर्चा है कि जब मुखिया की शह पर फाईलें डीजीएम साहब को दिखाई जाती है तो कही न कही लाभ शुभ जुड़े होने की बात भी लोग करते नजर आ रहे हैं। लोग कहने लगे हैं कि चर्चित डीजीएम के जादुई खेल को समझने के लिए भेल के ईडी को ही ध्यान देना होगा, तब कही जाकर एमएम में दखल का राज समझ में आयेगा।

विनय निगम होंगे टीसीबी के मुखिया

भेल भोपाल कारखाने में फेरबदल की चर्चाएं गर्म है। हाल ही में महाप्रबंधक डीडी पाठक को जीएमआई बनाकर जगदीशपुर भेजने के बाद हाईड्रो के महाप्रबंधक पीके मिश्रा को फेब्रीकेशन विभाग का मुखिया बना दिया है। खबर है कि टीसीबी के महाप्रबंधक टीके बागची का तबादला दिल्ली आरओडी होने के बाद टीसीबी प्रोडक् शन के महाप्रबंधक विनय निगम को यहां का मुखिया बनाया जा सकता है इसके लिए कार्पोरेट जल्द ऑर्डर जारी कर सकता है तो ऐसे में एमके श्रीवास्तव डब्ल्यूई के मुखिया बन जायेंगे। चर्चा है कि इसी माह फीडर्स ग्रुप के मुखिया एम हलदर रिटायर होने वाले हैं। अटकलें लगाई जा रही है कि इनकी जगह झांसी के जीएम श्री वाष्र्णेय को लाया जा सकता है या फिर इसी विभाग के अपर महाप्रबध्ंाक श्री सिद्दीकी को ग्रुप का प्राभारी बनाया जा सकता है। वह इसी साल महाप्रबंधक बनने की कतार में खड़े हैं। खबर यह है कि ईएम के एजीएम संजय चन्द्रा को टीसीबी में लाया जा सकता है।

साहब का तुगलगी फरमान

भेल कारखाने के टीएसडी लेब को खत्म करने के लिए विभाग के ही एक आला अफसर ने खेल करना शुरू कर दिया, इससे विभाग के लोग इस बात से हैरान हैं। भीतर ही भीतर चल रहे इस तुगलगी फरमान से कारखाने की इंटरनेशनल टेस्टिंग लेब खतरे में दिखाई दे रही है। इसे ठेके पर देने की तैयारी के चलते एक बड़ी कंपनी के अफसरों ने इस लेब का निरीक्षण भी किया है। चर्चा है कि एक आला अफसर इस लेब को सेन्ट्रलाइज कर किसी बड़ी पार्टी को खुश करने का मन बना चुके हैं। यदि यह लेब एक ही जगह शिफ्ट होती है तो आर्थिक संकट से जूझ रही भेल जैसी महारत्न कंपनी को रिनोवेशन के नाम पर करीब 50 लाख रूपये और खर्च करने होंगे। भेल के प्रशासनिक भवन में कुछ अफसर टीएसडी में इस तुगलगी फरमान पर दांतों तले उंगली दबा लेते हैं।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

यह बन सकते हैं सीनियर डीजीएम

भोपाल भेल भोपाल यूनिट में इस माह कई अफसर प्रमोशन की कतार में खड़े हैं। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)