Tuesday , January 22 2019
Home / भेल न्यूज़ / -आठवें वेतन निर्धारण को लेकर दिल्ली में होगा हंगामा, तीनों यूनियनों को बुलाया

-आठवें वेतन निर्धारण को लेकर दिल्ली में होगा हंगामा, तीनों यूनियनों को बुलाया

दिल्ली ज्वाइंट कमेटी की बैठक में गर्मायेगा एनटीपीसी और ओएनजीसी पेटर्न पर वेतन देने का मामला

भोपाल

भेल जैसी महारत्न कंपनी के कर्मचारियों के वेज रिवीजन का मामले को अटके दूसरा साल शुरू हो गया है। इसके बाद भी कार्पोरेट प्रबंधन कोई फैसला नहीं ले पा रहा है। 10 जनवरी को इसको लेकर दिल्लाी ज्वाइंट कमेटी की बैठक आयोजित की गई है। जानकारों का कहना है कि यूनियनें भेल कर्मचारियों को एनटीपीसी और ओएनजीसी पैटर्न पर वेतन दिये जाने का मुद्दा भी उठा सकती है। वेज रिवीजन के मामले को लेकर भेल के मुखिया डीके ठाकुर ने प्रतिनिधि यूनियन इंटक, ऐबू और बीएमएस को सोमवार को मिनी ज्वाइंट कमेटी की बैठक होने के बाद भी मंगलवार को सुबह 10 बजे विशेष रूप से बुलाया।

बैठक में तीनों यूनियनों को धरना प्रदर्शन न करने की बात कहते हुए उन्हें भरोसा दिलाया कि 10 जनवरी को ही वेज रिवीजन पर फैसला हो सकता है। इधर तीनों यूनियन के प्रतिनिधियों ने बताया कि यदि फैसला नियत समय पर ज्वाइंट कमेटी की बैठक में नहीं हुआ तो स्थानीय यूनियन दिल्ली पहुंचकर प्रदर्शन करने को मजबूर होंगी।

गौरतलब है कि इसको लेकर बीते पूरे साल धरना-प्रदर्शन-आंदोलन लगातार जारी रहे। हर बार जेसीएम की बैठक में फैसला होने की बात कहकर वेज रिवीजन के मुद्दे को एक साल से टालते रहे। जबकि भेल के अधिकारियों को वेज रिवीजन का ऐरियर देने की घोषणा कर दी। भेल की प्रतिनिधि यूनियन इंटक, ऐबू और बीएमएस के अलावा सत्ता से बाहर केटीयू और एचएमएस ने वेज रिवीजन को लेकर नए साल में भी आंदोलन करना शुरू कर दिया है।

यूनियनें आठवां वेज रिवीजन सातवें वेज रिवीजन से बेहतर चाहती हैं। उनका कहना है कि भेल कर्मचारियों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने उच्च प्रबंधन को अबकी बार निर्णय करना होगा वरना कंपनी के सामने कई तरह के संकट खड़े हो जाएंगे। ऐबू ने नए साल में चरणबद्ध आंदोलन किया, वहीं बीएमएस यूनियन भी इसको लेकर लगातार प्रदर्शन कर चुकी है। इसी तरह इंटक ने भी कई प्रदर्शन किए हैं। आरपार की लड़ाई कंपनी को उत्पादन के अंतिम पीरियड में कितना नुकसान उठाना पड़ सकता है वह भली भांति जानती है।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

गोविन्दपुरा इंडस्ट्रियल एरिया में करोड़ों का कारोबार, मौन है सरकार

भोपाल गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र को आर्दश औद्योगिक क्षेत्र के रूप में विकसित करने के प्रयास …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)