Wednesday , June 26 2019
Home / राज्य / एसपी-बीएसपी गठबंधन: इस प्‍लान से मोदी को मात देंगे माया-अखिलेश

एसपी-बीएसपी गठबंधन: इस प्‍लान से मोदी को मात देंगे माया-अखिलेश

लखनऊ

उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों के लिए समाजवादी पार्टी (एसपी) और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) ने शनिवार को गठबंधन का औपचारिक ऐलान कर दिया। अब कहा जा रहा है कि चुनाव अभियान की शुरुआत मायावती और अखिलेश यादव की साझा रैलियों से होगी। इसकी शुरुआत लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी और प्रयाग सहित अन्य प्रमुख शहरों से होगी।

एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव और बीएसपी चीफ मायावती अगले एक सप्ताह में यह तय कर लेंगे कि कौन, किस सीट पर चुनाव लड़ेगा। साथ ही दोनों दल साझा चुनाव अभियान की भी रूपरेखा जल्द तय कर लेंगे। गठबंधन की रूपरेखा से जुड़े एसपी के सूत्रों ने शनिवार को बताया कि दोनों दलों के बीच बंटवारे वाली सीटों पर आपसी सहमति लगभग बन गई है। इसकी सार्वजनिक घोषणा बीएसपी प्रमुख मायावती के जन्मदिन (15 जनवरी) के मौके पर या इसके एक दो दिन के भीतर कर दी जाएगी। इससे पार्टी कार्यकर्ता समय रहते चुनावी तैयारियों में जुट सकेंगे। प्रचार अभियान का आगाज अखिलेश और मायावती की उत्तर प्रदेश के प्रमुख शहरों में साझा रैलियों से होगा।

प्रदेश के प्रमुख शहरों में होगी अखिलेश-माया की साझा रैली
बीएसपी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया, ‘इसकी शुरुआत लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी और प्रयाग सहित अन्य प्रमुख शहरों से होगी। दोनों दलों का शीर्ष नेतृत्व चुनाव प्रचार अभियान को जल्द अंतिम रूप देकर रैलियों की जगह और समय का निर्धारण करेंगे।’ गठबंधन में राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) की सीटों को लेकर अभी कोई अंतिम फैसला नहीं होने के बारे में एसपी के एक नेता ने बताया कि कांग्रेस के लिए छोड़ी गई दो सीटों के अलावा आरएलडी के लिए फिलहाल दो सीट छोड़ गई है लेकिन यह अंतिम आंकड़ा नहीं है।

आरएलडी नेताओं के साथ बातचीत और जमीनी वास्तविकता को ध्यान में रखते हुए एसपी-बीएसपी अपने कोटे की अधिकतम एक या दो सीट छोड़ने पर विचार कर सकते हैं। उल्लेखनीय है कि लखनऊ में शनिवार को अखिलेश और मायावती ने संयुक्त संवाददाता सम्मेलन कर एसपी-बीएसपी गठबंधन की औपचारिक घोषणा की। इस दौरान मायावती ने गठबंधन से कांग्रेस को अलग रखने की जानकारी देते हुए इस बात का स्पष्ट संकेत दिया कि यह फैसला सोची समझी रणनीति के तहत बीजेपी के पक्ष में कांग्रेस के मतों का ध्रुवीकरण रोकने के लिए किया गया है।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

शादी के 10 साल बाद भी नहीं हुआ बच्चा, पति-पत्नी ने दी जान

मेरठ उत्तर प्रदेश के मेरठ में शादी के 10 साल बाद भी बच्चा न होने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)