Sunday , June 16 2019
Home / राज्य / गठबंधन: तेजस्वी पर BJP का तंज, …कांटा लगा

गठबंधन: तेजस्वी पर BJP का तंज, …कांटा लगा

पटना

यूपी में बीएसपी-एसपी को तेजस्वी यादव के समर्थन के बाद भी आरजेडी से गठबंधन की बात न करने पर बीजेपी ने चुटकी ली है। बीजेपी ने कहा है कि बुआ-भतीजे को तेजस्वी से फूल लेते वक्त कांटा चुभ गया होगा इसीलिए उन्होंने गठबंधन के लिए आरजेडी से बात तक नहीं की। बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने तेजस्वी पर तंज कसते हुए ट्वीट किया कि मुलाकात के वक्त गुलदस्ता भेंट करने के दौरान दोनों को पुराना कांटा चुभ गया होगा इसलिए दोनों ने उनसे गठबंधन के संबंध में कोई बात नहीं की।

बनने से पहले ही बिखर गया है एनडीए के खिलाफ गठबंधनः बीजेपी
मोदी ने कहा, ‘यूपी की बुआजी ने वजूद बचाने के लिए भले ही एसपी के हमले और गेस्ट हाउस कांड को जहर का घूंट पीकर भुला दिया हो।भतीजा उनका जन्मदिन मनाकर आल इज वेल का संदेश दे रहा हो लेकिन एसपी-बीएसपी यह नहीं भूले हैं कि 2015 में बिहार में महागठबंधन बनाते समय कैसे लालू प्रसाद ने मुलायम सिंह यादव का अपमान किया था।’ उन्होंने कहा कि अखिलेश को यह भी याद ही होगा कि उनके पिता को प्रधानमंत्री बनने से किसने रोका था? सुशील मोदी ने दावा किया कि एनडीए के खिलाफ गठबंधन बनने से पहले ही बिखर गया है।

महागठबंधन से बाहर है कांग्रेस?
मोदी ने कहा कि कर्नाटक सरकार की हालत किसी से छिपी नहीं है। साल 2019 के आम चुनाव में जनता प्रांतीय दलों के स्वार्थी गठबंधन के किसी मजबूर व्यक्ति को नहीं बल्कि बड़े और त्वरित फैसले करने वाले मजबूत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ही फिर से देश की सेवा का अवसर देगी। उधर, एलजेपी नेता चिराग पासवान ने तेजस्वी की मायावती और अखिलेश से मुलाकात के बारे में कहा कि उन्हें आश्चर्य होता है कि बिहार में विपक्ष किस महागठबंधन की बात कर रहा है क्योंकि सच्चाई यह है कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को गठबंधन से बाहर कर दिया गया है।

तेजस्वी को पार्टी के अपमान से कोई सरोकार नहींः जेडीयू
जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने सवाल किया कि क्या तेजस्वी को एसपी-बीएसपी गठबंधन में कांग्रेस को शामिल नहीं किए जाने के पार्टी के ‘अपमान’ से कोई सरोकार नहीं है? बिहार विधान परिषद में कांग्रेस सदस्य प्रेमचंद्र मिश्रा से जब इस घटनाक्रम के बारे में पूछा गया तो उन्होंने इसे टालते हुए कहा कि तेजस्वी का अखिलेश के परिवार के साथ पारिवारिक संबंध है। हो सकता है कि वह मकर संक्रांति मनाने के लिए वहां गए हों।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

राम मंदिर पर बदले साधु-संतों के सुर, अल्टीमेटम देने वाले अब चुप क्यों?

अयोध्या, अध्योध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर संत और महंत ने सरकार पर दबाव …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)