Thursday , April 25 2019
Home / Featured / निर्णायक T20: हैमिल्टन टी20 हारी टीम इंडिया, सीरीज भी गंवाई

निर्णायक T20: हैमिल्टन टी20 हारी टीम इंडिया, सीरीज भी गंवाई

हैमिल्टन

लगातार 10 बार से टी20 इंटरनैशनल सीरीज से चला आ रहा भारतीय टीम का अजेय सफर रविवार को थम गया। कॉलिन मुनरो की अगुआई में बल्लेबाजों के दमदार प्रदर्शन के दम पर न्यू जीलैंड ने सीरीज के तीसरे और और आखिरी T20I में भारत को चार रन से हरा दिया। इसके साथ ही न्यू जीलैंड ने सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली। भारत ने इससे पहले 2017 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ टी20 सीरीज गंवाई थी।

कोशिश रही जारी, पर नहीं मिली जीत
न्यू जीलैंड के 213 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम विजय शंकर (43), कप्तान रोहित शर्मा (38) और ऋषभ पंत (28) की पारियों के बावजूद छह विकेट पर 208 रन ही बना सकी। दिनेश कार्तिक (16 गेंद में नाबाद 33, 4 छक्के) और क्रुणाल पंड्या (13 गेंद में नाबाद 26, दो चौके, दो छक्के) ने सातवें विकेट के लिए 4.4 ओवर में 63 रन की साझेदारी की लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके। न्यू जीलैंड की ओर से डेरिल मिशेल और मिशेल सेंटनकर ने क्रमश: 27 और 32 रन देकर दो-दो विकेट चटकाए।

मुनरो ने खेली दमदार पारी
इससे पहले मुनरो ने 40 गेंद में पांच छक्कों और पांच चौकों की मदद से 72 रन की पारी खेलने के अलावा टिम सीफर्ट (43) के साथ पहले विकेट के लिए 80 और कप्तान केन विलियमसन (27) के साथ दूसरे विकेट के लिए 55 रन की साझेदारी की जिससे न्यू जीलैंड ने चार विकेट पर 212 रन बनाए।

कोलिन डि ग्रैंडहोम (30) और डेरिल मिशेल (11 गेंद में नाबाद 19) ने अंत में चौथे विकेट के लिए 3.2 ओवर में 43 रन जोड़कर टीम का स्कोर 200 रन के पार पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। भारत की ओर से कुलदीप यादव सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने चार ओवर में 26 रन देकर दो विकेट हासिल किए।

हंगे साबित हुए पंड्या बंधु
क्रुणाल पंड्या ने चार ओवर में 54 जबकि उनके छोटे भाई हार्दिक पंड्या ने चार ओर में 44 रन लुटाए। खलील अहमद ने भी 47 रन देकर एक विकेट हासिल किया। किसी द्विपक्षीय श्रृंखला में ये तीनों गेंदबाज सबसे अधिक रन खर्च करने वाले भारतीय गेंदबाज बन गए हैं। हार्दिक ने सीरीज के तीन मैचों में 131, खलील ने 122 जबकि कृणाल ने 119 रन लुटाए।

भारत की रही खराब शुरुआत, रोहित-शंकर ने संभाला
लक्ष्य का पीछा करने उतरे भारत की शुरुआत खराब रही। शिखर धवन (05) स्पिनर मिशेल सेंटनर के पहले ही ओवर में डीप मिडविकेट पर मिशेल को कैच दे बैठे। शंकर और रोहित ने इसके बाद पारी को संवारा। शंकर ने स्काट कुगेलिन पर दो चौके मारे जबकि रोहित ने टिम साउथी पर लगातार दो चौके जड़े। दोनों ने छठे ओवर में टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया। शंकर ने लेग स्पिनर ईश सोढी का स्वागत लगातार दो छक्कों के साथ किया। उन्होंने सेंटनर पर चौका जड़ा लेकिन अगली गेंद पर ग्रैंडहोम को कैच दे बैठे। उन्होंने 28 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके और दो छक्के मारे।

विकेट पर टिके नहीं बल्लेबाज
पंत ने सेंटनर पर चौके और छक्के से खाता खोला और फिर सोढी पर दो छक्के जड़कर 10वें ओवर में भारत का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया। पंत हालांकि 12 गेंद में 28 रन बनाने के बाद पदार्पण कर रहे ब्लेयर टिकनर की गेंद विलियमसन को कैच दे बैठे। हार्दिक ने टिकनर पर छक्के से खाता खोला और फिर मिशेल की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का मारा। रोहित हालांकि मिशेल की ऑफ साइड से बेहद बाहर जाती गेंद पर विकेटकीपर सीफर्ट को कैच दे बैठे। उन्होंने 32 गेंद का सामना करते हुए तीन चौके मारे। हार्दिक भी इसके बाद कुगेलिन की गेंद पर विलियमसन को कैच दे बैठे। उन्होंने 11 गेंद में 21 रन बनाए।

नहीं चला धोनी का बल्ला
भारत को अंतिम पांच ओवर में जीत के लिए 68 रन की दरकार थी। मिशेल ने महेंद्र सिंह धोनी (02) को पविलियन भेजकर भारत को छठा झटका दिया। भारत ने इस बीच चार रन पर तीन विकेट गंवाए। दिनेश कार्तिक ने मिशेल और टिकनर पर छक्के जड़े लेकिन रन गति को जरूरी तेजी नहीं दे पाए।

आखिरी ओवर में चाहिए थे 16 रन
भारत को अंतिम तीन ओवर में 48 रन की जरूरत थी। कृणाल ने साउथी की लगातार गेंदों पर छक्का और दो चौके जड़कर गेंद और रन के बीच के अंतर को कम किया। कुगेलिन के 19वें ओवर में कार्तिक और कृणाल ने एक-एक छक्के के साथ 14 रन बनाए। भारत को अंतिम छह गेंदों पर जीत के लिए 16 रन चाहिए थे लेकिन कार्तिक के मैच की अंतिम गेंद पर छक्के के बावजूद साउथी के इस ओवर में 11 रन ही बने।

न्यू जीलैंड की धमाकेदार शुरुआत
इससे पहले रोहित ने टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला किया। मुनरो और सीफर्ट की जोड़ी ने इसके बाद टीम को तूफानी शुरुआत दिलाई। मुनरो ने भुवनेश्वर कुमार के पहले ही ओवर में छक्के के साथ खाता खोला जबकि सीफर्ट ने खलील के पहले दो ओवर में तीन चौके और एक छक्का मारा। मुनरो ने छठे ओवर में कृणाल पर दो छक्के और एक चौके से 20 रन जुटाए और टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया।

सीफर्ट ने हार्दिक पर भी छक्का जड़ा लेकिन रोहित ने जब गेंद कुलदीप को थमाई तो विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी ने उन्हें तूफानी गति से स्टंप कर दिया। सीफर्ट ने 25 गेंद की पारी में तीन छक्के और इतने ही चौके मारे। मुनरो ने कुलदीप पर छक्का जड़ा और फिर कृणाल की गेंद को भी दर्शकों के बीच पहुंचाकर 28 गेंद में अर्धशतक पूरा किया और साथी ही 11वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया।

मुनरो को मिला किस्मत का साथ
मुनरो हालांकि 60 रन के स्कोर पर भाग्यशाली रहे जब हार्दिक की गेंद पर खलील ने उनका कैच टपका दिया। मुनरो ने इसी ओवर में लगातार गेंदों पर चौका और छक्का मारा। मुनरो हालांकि कुलदीप के अगले ओवर में लॉन्ग ऑन पर हार्दिक को कैच दे बैठे। इस साझेदारी में विलियमसन का योगदान सिर्फ 15 रन का रहा।

ग्रैंडहोम की उपयोगी पारी
विलियमसन ने खलील पर दो चौके मारे लेकिन इसी ओवर में शॉर्ट फाइन लेग पर कुलदीप को आसान कैच दे बैठे। उन्होंने 21 गेंद में तीन चौकों की मदद से 27 रन जोड़े। डि ग्रैंडहोम ने इसके बाद मोर्चा संभाला। उन्होंने क्रुणाल पर छक्का और चौका जड़ने के बाद भुवनेश्वर पर लगातार दो चौके मारे। मिशेल ने भी भुवनेश्वर पर चौका जड़ा।

रोहित ने 26 रन के स्कोर पर हार्दिक की गेंद पर ग्रैंडहोम का कैच टपकाया। ग्रैंडहोम हालांकि इसका फायदा नहीं उठा पाए और भुवनेश्वर की आफ साइड से बाहर की गेंद पर धोनी को कैच दे बैठे। मिशेल ने भुवनेश्वर पर चौके के साथ 19वें ओवर में टीम के 200 रन पूरे किए।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

कांग्रेस ने 2022 के लिए बचा लिया प्रियंका का ट्रंप कार्ड, फिलहाल प्रचार पर फोकस

नई दिल्ली, प्रियंका गांधी की राजनीतिक एंट्री के साथ ही उनके चुनावी मैदान में उतरने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)